Home > Category: आनन्द

आनन्द – मौज, मज़ा, हंसना हँसाना, खिलखिलाना, चुटकुले और मस्ती

स्वामी बालेन्दु कहते हैं उनके जीवन का सिद्धांत है मौज लेना! जिन्दगी को जादा गंभीर मत बनाओ! हंसो हंसाओ और मौज लो!

जब एक परिचयात्मक शब्द सब कुछ बदलकर रख देता है! 4 फरवरी 2015

आनन्द

स्वामी बालेंदु शिक्षक की नौकरी के एक साक्षात्कार का ज़िक्र करते हुए बता रहे हैं कि किस तरह वह उनकी अपेक्षा से बहुत अलग रहा!

सिर्फ सेक्स करते समय ही मैं दरवाजे पर ‘डू नॉट डिस्टर्ब’ का सूचना पट्ट लगाता हूँ! 30 दिसंबर 2014

आनन्द

स्वामी बालेंदु जीवन के एक महत्वपूर्ण प्रश्न से दो चार हो रहे हैं। क्या आप इस विषय में उनकी मदद कर सकते हैं?

जब हम भोजन के बाद खाई जाने वाली मिठाई अकेले ही खा गए! 21 जुलाई 2014

आनन्द

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि कैसे एक बार उन्हें एक जन्मदिन की पार्टी में आमंत्रित किया गया और उन्होंने मिलकर पंद्रह लोगों के लिए तैयार मिठाइयाँ अकेले ही चट कर लिया!

कभी-कभी गप्पबाजी करते हुए अचानक आपके मुंह से शब्द नहीं निकलते! 4 दिसंबर 2013

आनन्द

स्वामी बालेंदु एक मज़ेदार घटना का वर्णन कर रहे हैं, जब एक भारतीय महिला की स्पष्टवादिता के सामने रमोना निर्वाक रह गई।

क्या धरती के मनुष्य एलिएन्स के लिए आकर्षक सेक्स-पार्टनर हैं? – 3 जून 2013

आनन्द

स्वामी बालेन्दु एक महिला के टीवी इंटरव्यू के बारे में बता रहे हैं जिसमें वह महिला यह दावा करती है कि वह एक साइकिक है और एलिएन्स के साथ संभोग कर चुकी है।

इस्तीफ़े के बाद सोलहवें पोप बेनेडिक्ट के लिए 4 रिटायरमेंट प्लान – 15 फरवरी 2013

आनन्द

अवकाश ग्रहण करने के बाद सोलहवें पोप बेनेडिक्ट क्या-क्या कर सकते है इस बारे में काफी सोच-विचार करने के बाद स्वामी बालेंदु कुछ विकल्प यहाँ सुझा रहे हैं! आप भी कुछ विकल्प प्रस्तुत करें!