आभार यूरोप! शरणार्थियों की मदद करने का बहुत बहुत शुक्रिया – 1 सितंबर 2015

एक धन्यवाद-ज्ञापन के रूप में स्वामी बालेंदु यूरोप की जनता को संबोधित कर रहे हैं, जो कई तरह से शरणार्थियों की मदद के लिए आगे आए हैं और उनकी देखभाल में हाथ बंटा रहे हैं।

Continue Readingआभार यूरोप! शरणार्थियों की मदद करने का बहुत बहुत शुक्रिया – 1 सितंबर 2015

परिवर्तन की प्रक्रिया के दौरान मेरा साथ देने के लिए अपने परिवार और मित्रों का धन्यवाद! 19 दिसंबर 2013

स्वामी बालेंदु अपने आसपास के उन लोगों को व्यक्तिशः धन्यवाद ज्ञापित कर रहे हैं, जो उनके जीवन में आने वाले परिवर्तनों के दौरान लगातार उनके पक्ष में खड़े रहे।

Continue Readingपरिवर्तन की प्रक्रिया के दौरान मेरा साथ देने के लिए अपने परिवार और मित्रों का धन्यवाद! 19 दिसंबर 2013

एक जिद्दी भारतीय मानसिकता पश्चिम में कितनी मुश्किल पैदा कर सकती है – 21 अप्रैल 2013

स्वामी बालेन्दु भारत से ले जाये गए एक संगीतकार के यूरोप में व्यवहार के विषय में लिखते हैं|

Continue Readingएक जिद्दी भारतीय मानसिकता पश्चिम में कितनी मुश्किल पैदा कर सकती है – 21 अप्रैल 2013