सोनू क्यों हमारी साईट पर काम नहीं कर सकता – 16 अगस्त 2015

स्वामी बालेन्दु अपने रेस्तराँ की साइट पर हुए एक वाकए का ज़िक्र कर रहे हैं, जहाँ वे, स्वाभाविक ही, अपने नैतिक मूल्यों का पालन करना नहीं छोड़ते- इसी के चलते एक मजदूर को उन्होंने अपने यहाँ काम करने की इजाज़त नहीं दी।

Continue Readingसोनू क्यों हमारी साईट पर काम नहीं कर सकता – 16 अगस्त 2015

बाल विवाह, बाल मजदूरी और शराबखोरी की समस्या – हमारे स्कूल के बच्चे – 24 जनवरी 2014

स्वामी बालेंदु एक लड़के का परिचय आपसे करवा रहे हैं, जिसका पिता शराब पीता है, जिसकी बहन 15 साल की उम्र में ब्याह दी गई और जिसका 14 साल का भाई परिवार का खर्च पूरा करने के लिए मजदूरी करता है।

Continue Readingबाल विवाह, बाल मजदूरी और शराबखोरी की समस्या – हमारे स्कूल के बच्चे – 24 जनवरी 2014

तीन बार भोजन – क्या यह बच्चों के लिए विलासिता है? – 11 जून 2013

स्वामी बालेंदु यूनिसेफ द्वारा गरीब बच्चों के विषय में किए गए अध्ययन के पहले पाँच बिन्दुओं पर चर्चा कर रहे हैं। भोजन, किताबें, खेल के साधन और सुविधाएं-विलासिता या आवश्यक अनिवार्यता?

Continue Readingतीन बार भोजन – क्या यह बच्चों के लिए विलासिता है? – 11 जून 2013