एक से अधिक सेक्स पार्टनर के साथ आपसी संबंधों में रोमांच, थ्रिल, उत्तेजना और असफलता – 1 दिसंबर 2015

स्वामी बालेंदु खुले संबंधों में आने वाली एक और समस्या के बारे में लिख रहे हैं: जब लोग अपने मुख्य पार्टनर में भी रुचि खोने लगते हैं।

Continue Readingएक से अधिक सेक्स पार्टनर के साथ आपसी संबंधों में रोमांच, थ्रिल, उत्तेजना और असफलता – 1 दिसंबर 2015

किसी अकेली विदेशी महिला का भारत में सुरक्षित रूप से सफर करना! 20 अक्टूबर 2014

Swami Balendu describes their Ashram's offer to accompany single women on their journeys through India.

Continue Readingकिसी अकेली विदेशी महिला का भारत में सुरक्षित रूप से सफर करना! 20 अक्टूबर 2014

मैं पुनः कभी दक्षिण अफ्रीका क्यों नहीं जाऊँगा? 19 अक्टूबर 2014

स्वामी बालेंदु दक्षिण अफ्रीका में हुए अपने अनुभवों का वर्णन कर रहे हैं और बता रहे हैं कि क्यों उस बार अपनी यात्रा में उन्हें बिलकुल मज़ा नहीं आया।

Continue Readingमैं पुनः कभी दक्षिण अफ्रीका क्यों नहीं जाऊँगा? 19 अक्टूबर 2014

अपने बच्चों को डराएँ नहीं! उन्हें बताएँ कि आप हर वक़्त उनके साथ खड़े हैं! 17 अप्रैल 2014

स्वामी बालेन्दु बता रहे हैं कि क्यों बच्चों को यह कहकर चिढ़ाने का तरीका उन्हें विशेष रूप से सख्त नापसंद है: 'मैं तुम्हें यहाँ छोड़कर चला जाऊंगा।

Continue Readingअपने बच्चों को डराएँ नहीं! उन्हें बताएँ कि आप हर वक़्त उनके साथ खड़े हैं! 17 अप्रैल 2014

भारत भ्रमण पर आई गोरी महिलाओं को क्या नहीं करना चाहिए! भाग दो – 4 फरवरी 2014

स्वामी बालेंदु उन पश्चिमी महिला यात्रियों को कुछ और सुझाव दे रहे हैं, जो अपनी ज़िम्मेदारी पर अकेले ही भारत-भ्रमण पर निकली हैं। आपको किन चीजों से बचना चाहिए, यहाँ पढ़िये!

Continue Readingभारत भ्रमण पर आई गोरी महिलाओं को क्या नहीं करना चाहिए! भाग दो – 4 फरवरी 2014