बात करने के लिए कभी-कभी आपको किसी दूरस्थ मित्र की ज़रूरत पड़ती है – 8 सितंबर 2015

स्वामी बालेंदु अपने एक मित्र का ज़िक्र कर रहे हैं, जिसने बात करने के लिए उन्हें फोन किया क्योंकि अपने आसपास के लोगों से वह बात नहीं कर पा रहा था! उसकी समस्या क्या थी, यहाँ पढ़िए।

Continue Readingबात करने के लिए कभी-कभी आपको किसी दूरस्थ मित्र की ज़रूरत पड़ती है – 8 सितंबर 2015

मानसिक शांति अधिक महत्व्पूर्ण है या धन-दौलत? 30 नवम्बर 2014

स्वामी बालेन्दु अपने एक मित्र के बारे में बता रहे हैं, जो सन् 2005 में सिर्फ पैसे और संपत्ति के लिए अपनी प्रेमिका के साथ रहने लगा-मगर 2007 में उसका मन बदल गया!

Continue Readingमानसिक शांति अधिक महत्व्पूर्ण है या धन-दौलत? 30 नवम्बर 2014

धोखेबाज़ी का नियम: आप दूसरों को धोखा दे सकते हैं, दूसरे आपको नहीं! 07 जुलाई 2014

Swami Balendu tells of a woman who came for an individual session. She had to get over a relationship problem: her married love affair partner had cheated on her!

Continue Readingधोखेबाज़ी का नियम: आप दूसरों को धोखा दे सकते हैं, दूसरे आपको नहीं! 07 जुलाई 2014

परस्पर विपरीत रुचियों के चलते रिश्तों में आने वाली दिक्कतें – 18 दिसंबर 2013

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि पति और पत्नी की रुचियों में भिन्नता उनके रिश्ते में दरार पैदा कर देती हैं, जिसे पाटना मुश्किल होता है।

Continue Readingपरस्पर विपरीत रुचियों के चलते रिश्तों में आने वाली दिक्कतें – 18 दिसंबर 2013

उस मित्रता का अंत कर दें, जो आपको सिर्फ थकाने का काम करती है- 26 सितंबर 2013

स्वामी बालेंदु ऐसे मित्रों को छोड़ देने की सिफ़ारिश कर रहे हैं, जो आपकी मित्रता का सिर्फ लाभ उठाते हैं, जो सिर्फ लेना जानते हैं, देना नहीं और जिनके साथ आप अच्छा महसूस नहीं करते।

Continue Readingउस मित्रता का अंत कर दें, जो आपको सिर्फ थकाने का काम करती है- 26 सितंबर 2013