इस्तीफ़े के बाद सोलहवें पोप बेनेडिक्ट के लिए 4 रिटायरमेंट प्लान – 15 फरवरी 2013

आनन्द

अब यह एक बासी खबर है कि सोलहवें पोप बेनेडिक्ट ने कैथॉलिक चर्च के मुखिया पद से इस्तीफा दे दिया है। 85 साल की उम्र में उन्हें लगता है कि दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक संस्थान के मुखिया बने रहने की उनकी कोई इच्छा नहीं रह गई है। जब कि इस विषय में सभी आलेख यह चिंता व्यक्त कर रहे हैं कि उनके इस अचानक दिये गए इस्तीफ़े के बाद पोप के पद का क्या होगा, मेरे दिल में बिलकुल उलट खयाल आता है: रिटायर्ड पोप का क्या होगा? मेरे पास उनके लिए कुछ सुझाव भी हैं…

1) बोरिंग विकल्प: सन्यासी हो जाइये।

बहुत सादा इसलिए बहुत बोरिंग विचार यह है कि वे जाएँ और वही करें जो आम तौर पर लोग रिटायर होने के बाद करते हैं- विश्रांति लें और बागवानी करें। फिर से एक मामूली सन्यासी हो जाएँ और अपने मस्तिष्क को उन सारी जिम्मेदारियों से आज़ाद हो जाने दें जो पोप के पद पर रहते हुए उन्होंने उठा रखी थीं। उन्हें अब अपना बिजनेस ड्रेस पहनने की ज़रूरत नहीं है। लेकिन उन्हें अपनी कंपनी कार वापस करनी होगी। दुर्भाग्य से पूरी संभावना है कि यह बात होकर रहेगी- वे सार्वजनिक जीवन से शांतिपूर्वक और बोरिंग तरीके से खाने, प्रार्थना करने और प्रेम करने के उद्देश्य से रिटायर हो जाएंगे और अपने जीवन के अंत तक वैसे ही बने रहेंगे।

2) आधुनिक विकल्प: इंटरनेट गुरु हो जाइए।

उम्मीद है, मैं वर्तमान धर्माध्यक्ष को इस रिटायरमेंट प्लान के बारे में समझा सकूँगा और उन्हें सहमत कर सकूँगा। निश्चय ही इस प्लान में अधिक विविधता होगी और यह उनके लिए और दुनिया के लिए भी ज़्यादा दिलचस्प होगा। बेनेडिक्ट ने अभी से आधुनिक मीडिया में दिलचस्पी लेना शुरू कर दिया है-उन्होंने ट्विटर जॉइन कर लिया है और इतने कम समय में उनके 15 लाख फॉलोअर्स हो चुके हैं। वे ट्वीट करते हैं और लोग उन्हें रिस्पोंड करते हैं और रिट्वीट करते हैं- एक बार वे रिटायर हो जाएँ, इस काम के लिए समय ही समय हो तो इसमें सोशल नेटवर्किंग की बहुत ज़्यादा संभावना है। मुझे पक्का विश्वास है कि वे इसमें बहुत सफलता अर्जित करेंगे और नाम कमाएंगे! टिप्स देने के मामले में उनसे बढ़कर कौन हो सकता है, दुनिया के सबसे बड़े धर्म का सबसे बड़ा भूतपूर्व नेता, जिसने षडयंत्रों और सत्ता संघर्षों को, विवाद और मीडिया के प्रभुत्व को, परम्पराओं और नए आचार-विचारों के द्वंद्व को इतने करीब से देखा है?

3) दूसरा धर्म अपनाने का विकल्प: हिन्दू हो जाइए

अगर इंटरनेट गुरु का रोल उन्हें अपील नहीं करता तो मैं उन्हें एक और विकल्प सुझाता हूँ जिसमें उनकी अधिक व्यावहारिक और क्रियात्मक सहभागिता हो सकती है! वे हिन्दू हो जाएँ! यह फैशन भी है इस समय- वे जूलिया रोबर्ट्स से सलाह भी ले सकते हैं कि हिन्दू कैसे बनें। एक बार हिन्दू बन जाएँ तो फिर गुरु होने से और अपना विशाल गुरु-बिजनेस खड़ा करने से उन्हें कोई नहीं रोक सकता। सारे बेसिक्स तो उन्हें पहले से पता हैं- सभी धर्मों में धर्मगुरुओं के लिए अपेक्षित अर्हताएँ एक सी हैं- उन्हें सिर्फ कुछ हिन्दू धर्मग्रंथों को पढ़ भर लेना है या सुन लेने से भी काम चल सकता है। उनके रिटायरमेंट का कारण यह है कि वे अपने पद की चुनौतियों पर खरा उतरने में अपने आपको असमर्थ पाते हैं। हिन्दू चेले इस मामले में बड़े मददगार साबित होते हैं- वे गुरुओं पर कोई आंच नहीं आने देते और इस तरह गुरु का काम यहाँ थकान नहीं पैदा करता और वे स्वस्थ रहते हैं! हाँ, एक सलाह देना चाहूँगा: गंगा में किसी सूरत में न नहाएँ…उसकी जगह टीबर को वरीयता दें।

4) अ-ब्रह्मचर्य का विकल्प: पति बन जाएँ और पिता।

अंतिम संभावना जिसके बारे में मैं सोच पा रहा हूँ- और दरअसल मेरा सबसे पसंदीदा विकल्प- यह है कि वे सिर्फ पोप के अपने पद से इस्तीफा न दें वरन अपनी सन्यासियों की ज़िंदगी से भी इस्तीफा दे दें। कुछ नूतन-नवीन-सा क्यों न किया जाए? कई लोग रिटायरमेंट के बाद वे काम करना चाहते हैं जो वे अपनी नौकरी में रहते हुए नहीं कर पाए। जीवन का अंतिम पड़ाव इसीलिए होता है कि आप जीवन का हर वो मज़ा ले लें जो आप आज तक नहीं ले पाए थे।

मैं समझता हूँ कि यह बहुत आसान है: उन्हें एक युवा महिला तलाश लेनी चाहिए! मैं यह नहीं कह रहा हूँ कि वे प्लेबॉय के संस्थापक ह्यू हेफनर के रूप वाले भूतपूर्व पोप बन जाएँ, हालांकि मैं समझता हूँ कि 85 साला व्यक्ति के रूप में वे अब भी काफी खूबसूरत हैं और कई युवा महिलाओं को जो पर्याप्त पेंशन फंड युक्त प्रभावशाली व्यक्तियों को पसंद करती हैं, अपनी ओर आकृष्ट करने में सक्षम हैं। लेकिन अगर वे अपने आपको उतना सक्रिय नहीं पाते तो मैं यह सलाह दूँगा कि शादी के लिए सिर्फ एक महिला ढूँढ लें। अगर वे कंडोम पसंद नहीं करते तो नतीजा कुछ बच्चों के रूप में सामने आएगा और वे बच्चों और परिवार के बीच एक हरी-भरी शानदार रिटायरमेंट लाइफ गुज़ार सकेंगे। हाँ, यह विचार मुझे सबसे पसंद है!

%d bloggers like this:
Skip to toolbar