Home > Tag: भारत

क्या सकारात्मक नज़रिया आपको फूड पॉयज़निंग से बचा सकता है? 1 नवंबर 2015

मेरा जीवन

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि भारत में कहीं भी बाहर खाते-पीते समय आपको क्यों बहुत सतर्क रहना चाहिए-और इस मामले में आपका सकारात्मक नज़रिया भी आपको बैक्टेरिया-संक्रमण के खतरे से नहीं बचा सकता।

जब आश्रम आना ऐसा लगता है जैसे किसी विशाल चिड़ियाघर देखने आए हों – 20 अक्टूबर 2015

आश्रम

स्वामी बालेंदु आश्रम में और आश्रम के बाहर वृंदावन में घूमते हुए हर कहीं दिखाई देने वाले विभिन्न पशुओं के बारे में बता रहे हैं। अलग-अलग यात्रियों की रोचक प्रतिक्रियाओं के बारे में यहाँ पढ़िए।

आक्रामक टूरिस्ट गाइड्स भारत में स्वच्छंद घूमने-फिरने का मज़ा किरकिरा कर देते हैं – 11 अक्टूबर 2015

मेरा जीवन

स्वामी बालेंदु भारत भ्रमण पर आए विदेशी यात्रियों के कटु अनुभवों का वर्णन करते हुए बता रहे हैं कि कैसे सामान बेचने वाले, गाइड और यहाँ तक कि पंडे-पुजारी भी यात्रियों की तकलीफ और असुविधा बढ़ा देते हैं-आगे चलकर इसके और भी बुरे परिणाम सामने आते हैं!

भारत में सामाजिक परिस्थिति लगातार बेहद शर्मनाक, शोचनीय और पीड़ादायक हो चली है – 7 अक्टूबर 2015

राजनीति

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि क्यों वे समझते हैं कि भारत में मौजूदा हालत न सिर्फ बहुत नाज़ुक और संवेदनशील हो गई है बल्कि वह लगातार बिगड़ती ही जा रही है। इस विषय में विस्तार से यहाँ पढिए।

जब मुझे अछूत के पास बैठने पर आगाह किया गया – 4 अक्टूबर 2015

मेरा जीवन

स्वामी बालेंदु उनके साथ हुई एक घटना की चर्चा कर रहे हैं, जो दर्शाती है कि किस तरह आज भी भारतीय समाज के दैनिक व्यवहार में जाति-समस्या पूरी तरह व्याप्त है!

भारत में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस – चीन से चटाइयां और योग के शक्तिशाली व्यापारियों को धनलाभ – 21 जून 2015

मेरा जीवन

स्वामी बालेन्दु बता रहे हैं कि कैसे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के समारोहों में पर्दे के पीछे एक दूसरा चेहरा भी छिपा हुआ है।

मेरी प्रिय, पश्चिम की महिलाओं: भारतीय पुरुषों से ऑनलाइन प्रेम संबंध बनाते समय सतर्क रहें – 15 जून 2015

सम्बन्ध

यह बड़ी आम बात है कि अक्सर पश्चिमी महिलाएँ भारतीय पुरुषों से ऑनलाइन चैटिंग करती हैं और फिर उनके प्रेम में पड़ जाती हैं। स्वामी बालेन्दु बता रहे हैं कि क्या होता है जब कोई पश्चिमी महिला किसी भारतीय पुरुष से ऑनलाइन प्रेम कर बैठती हैं!

भारत में शिक्षा व्यवसाय को बंद कराने में अम्माजी’ज़ आयुर्वेदिक रेस्तराँ किस तरह सहायक होगा? 21 मई 2015

विद्यालय

स्वामी बालेन्दु बता रहे हैं कि क्यों वे सोचते हैं कि धनी और गरीब दोनों वर्गों से आने वाले बच्चों को अच्छी, स्तरीय निःशुल्क शिक्षा प्रदान करने के अपने स्वप्न को साकार करने में वे सफल होंगे!

धनवान और गरीब सभी के लिए एक जैसी उच्च स्तरीय मुफ्त शिक्षा का सपना – 20 मई 2015

विद्यालय

स्वामी बालेंदु अपने इस स्वप्न का ज़िक्र कर रहे हैं, जिसके अनुसार वे एक ऐसा स्कूल खड़ा करना चाहते हैं, जो धनी और गरीब सभी बच्चों को बढ़िया से बढ़िया शिक्षा मुफ्त मुहैया करेगा! यह योजना कैसे काम करेगी, यहाँ पढ़िए!

भारत – जहाँ शिक्षा भ्रष्टाचार और पैसे वालों की शिकार हो गई है – 19 मई 2015

विद्यालय

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि गरीबों और मध्य वर्ग के लोगों के लिए बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान कर पाना क्यों मुश्किल है-भ्रष्टाचार और शिक्षा के व्यावसायिक रूपान्तरण के कारण!

12
Skip to toolbar