क्या धरती के मनुष्य एलिएन्स के लिए आकर्षक सेक्स-पार्टनर हैं? – 3 जून 2013

आनन्द

कुछ दिन पहले एक ऑनलाइन वीडियो पर मेरी नज़र पड़ी जिसने मुझे बुरी तरह हंसने पर मजबूर कर दिया और मैं सोचने लगा कि दुनिया अजूबों से खाली नहीं है और यहाँ एक से एक लोग भरे पड़े हैं! एक इंटरव्यू की बात है जिसमें वह महिला दावा करती है कि एलिएन्स का अस्तित्व है और वे इस धरती पर आते हैं और लोगों के साथ संभोग करते हैं। वास्तव में वह स्वयं भी किसी दूसरे सोलर सिस्टम से आने वाले एक एलिएन के साथ अक्सर ऐसा करती रहती है, जिसे उसने ‘ऑक्टोपस मैन’ नाम दिया है।

यह मूर्खतापूर्ण लगता है मगर वह महिला इस बारे में बहुत गंभीर है। वह अपने आपको एक साइकिक बताती है और तमाम तरह के अलौकिक और रहस्यमय लोगों से उसका संबंध है: ‘कैट पीपल’, ‘ऑक्टोपस पीपल’, ‘ग्रेज़’, जो बिल्कुल एलिएन की प्रचलित छवि जैसे लगते हैं और कई दूसरे। वह और ‘उसका ग्रुप’ रात में बाहर निकलता है जब वह सोती रहती है। वह समझाते हुए कहती है कि यह स्वप्न नहीं होता बल्कि उसकी आत्मा एलिएन्स के साथ यूएफ़ओ में बैठकर यात्रा कर रही होती है। वे लोग हमारे सोलर सिस्टम का ही नहीं, उसके परे जाकर ब्रह्मांड के बहुत से स्थानों का अन्वेषण करते हैं!

संभोग के बारे में, जो वह एक बस अड्डे पर भी कर चुकी थी, पूछने पर वह बताती है कि उसका एक बोयफ्रेंड जैसा है या जैसा कि वह बताती है, एक ‘मित्र आत्मा’ जो उसके साथ संभोग करता है। वे सारे अंतरिक्षवासी संभोग करते हैं मगर खासकर ‘कैट पीपल’ इसके लिए सबसे ज़्यादा लालायित रहते हैं और उनमें संभोग शक्ति भी ज़्यादा होती है। मैं आप लोगों को यह इसलिए बता रही हूँ कि अगर आपकी उनसे कहीं मुठभेड़ हो जाए तो ये बातें पहले से पता होना बेहतर है….

इस तरह यह महिला उन लोगों से अलग थी जिनकी ‘एलिएन रिपोर्टें’ आप आम तौर पर देखते-सुनते रहते हैं। आम तौर पर लोग बताते हैं कि उनका अपहरण कर लिया गया, उन पर बलात्कार किया गया, भयंकर लोगों के साथ संभोग करने के लिए मजबूर किया गया और फिर उन पर वैज्ञानिक प्रयोग किए गए! लेकिन यहाँ वह अपने अनुभवों का मज़ा ले रही है, जैसा कि उस शो के दूसरे सहभागी ने कहा जो एक वैज्ञानिक था। उसका कहना था कि उस महिला के ओर्गेझम (यौन क्रिया का चरम सुख) सहित जो भी हो रहा है उसका कोई न कोई स्पष्टीकरण है: यह सब उसके दिमाग में हो रहा है, उसकी फंतासियाँ, कल्पना इन सब एलिएन्स को रच रही हैं, और यह सब वह इतनी शिद्दत के साथ उसे महसूस हो रहा है कि वह सिर्फ कल्पना करके भी ओर्गेझम प्राप्त करने में सफल हो जाती है।

मैं उस व्यक्ति की बात से पूरी तरह सहमत हूँ जो कह रहा है कि यह सब उस महिला के दिमाग की उपज है। एंकर जब उस साइकिक महिला से पूछता है कि ये एलिएन्स सबको दिखाई क्यों नहीं देते ताकि हम भी जान सकें कि उनका अस्तित्व है तो वह महिला समझाते हुए कहती है कि दुर्भाग्य से वे ‘शो ऑफ’ नहीं करते और हमारे पास अपने व्यक्तिगत गाइड होते हैं जो हमें उनसे मिलवाते हैं। अपरिभाषेय का यह अच्छा स्पष्टीकरण है।

अंत में उसके सामने यह चुनौती रखते हुए कि वह बताए कि ड्रेसिंगरूम में रखे एंकर के ब्रीफकेस में क्या है, उससे कहा गया कि अगर वह यह बता दे तो सिद्ध हो सकता है कि एलिएन्स का वाकई कोई अस्तित्व है। ब्रीफकेस के रंग का अनुमान लगाने के अपने बदहवास प्रयास के बाद उसने कहा कि हमारी मर्ज़ी से यह काम नहीं करता और इस वक़्त वह एलिएन आपके प्रश्न का जवाब बताकर उसकी मदद नहीं करना चाहता। खैर, अभी हमें कुछ समय इंतज़ार करना पड़ेगा जब ऑक्टोपस जैसे किसी एलिएन, जो हमारे साथ हमारी स्वप्नवस्था में संभोग करता है, के अस्तित्व का प्रमाण मिल सकेगा!

Leave a Comment