चिंता, अवसाद और निष्क्रियता के लिए एक नास्तिक और भूतपूर्व गुरु के द्वारा बताई ध्यान की इस विधि का प्रयोग करें – 15 अक्टूबर 2015

स्वामी बालेंदु संत्रासग्रस्त, अवसादग्रस्त या चिंताग्रस्त लोगों की मदद के लिए योग की युक्तियाँ बता रहे हैं, जिन्हें एक के बाद एक क्रमशः अमल लाने पर लाभ हो सकता है। अगर आप भी उनमें से एक हैं तो इन्हें आजमाइए, अवश्य लाभ होगा!

Continue Readingचिंता, अवसाद और निष्क्रियता के लिए एक नास्तिक और भूतपूर्व गुरु के द्वारा बताई ध्यान की इस विधि का प्रयोग करें – 15 अक्टूबर 2015

ध्यान – मस्तिष्क को नियंत्रित करने का फर्जी तरीका – 13 अप्रैल 2015

स्वामी बालेन्दु बता रहे हैं कि क्यों और कैसे ध्यान मस्तिष्क को नियंत्रित करने के लिए नहीं बनाया गया है-हालाँकि सामान्य रूप से इसका प्रचार इसी तरह किया जाता है!

Continue Readingध्यान – मस्तिष्क को नियंत्रित करने का फर्जी तरीका – 13 अप्रैल 2015

एक सामान्य मगर त्रुटिपूर्ण समझ: ध्यान मस्तिष्क को नियंत्रण में रखना है – 9 मार्च 2015

स्वामी बालेंदु समझा रहे हैं कि क्यों ध्यान लगाते वक़्त अपने दिमाग पर नियंत्रण रखने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। कैसे आप नियंत्रण की इच्छा पर लगाम लगा सकते हैं, यहाँ पढ़िए!

Continue Readingएक सामान्य मगर त्रुटिपूर्ण समझ: ध्यान मस्तिष्क को नियंत्रण में रखना है – 9 मार्च 2015

ध्यान कैसे करें-एक ऐसी चीज़ का मार्गदर्शक (गाइड) जिसके लिए मार्गदर्शन की ज़रूरत ही नहीं है- 14 नवंबर 2013

स्वामी बालेंदु बगैर किसी तामझाम और प्रदर्शन (आडंबर) के, सिर्फ सजग और चैतन्य रहते हुए और यहाँ तक कि अपने दैनिक कार्यक्रमों को करते हुए ध्यान करने के लिए कुछ हिदायतें और सुझाव दे रहे हैं।

Continue Readingध्यान कैसे करें-एक ऐसी चीज़ का मार्गदर्शक (गाइड) जिसके लिए मार्गदर्शन की ज़रूरत ही नहीं है- 14 नवंबर 2013

ध्यान-योग कोई रहस्य नहीं है लेकिन परेशानी यह है कि आप ऎसी चीज़ नहीं बेच सकते, जो सबको उपलब्ध हो-13 नवंबर 2013

स्वामी बालेंदु ध्यान-योग की अपनी परिभाषा प्रस्तुत कर रहे हैं और समझा रहे हैं कि क्यों यह परिभाषा आम तौर पर इस्तेमाल नहीं की जाती। इसके पीछे छिपे व्यापार को समझने के लिए पढ़ें!

Continue Readingध्यान-योग कोई रहस्य नहीं है लेकिन परेशानी यह है कि आप ऎसी चीज़ नहीं बेच सकते, जो सबको उपलब्ध हो-13 नवंबर 2013

ध्यान कोई कला नहीं है लेकिन ध्यान का प्रदर्शन करने वाले कलाकार अवश्य हैं! 12 नवंबर 2013

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि ध्यान की सहायता से लोग अद्भुत शक्तियाँ प्राप्त करते हैं लेकिन वे मानते हैं कि इन उपलब्धियों के लिए ध्यान को श्रेय देना ठीक नहीं है! क्यों, यहाँ पढ़िये।

Continue Readingध्यान कोई कला नहीं है लेकिन ध्यान का प्रदर्शन करने वाले कलाकार अवश्य हैं! 12 नवंबर 2013

ध्यान में विचारशून्यता की बात महज भ्रम है या व्यापार कौशल! 11 नवंबर 2013

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि उनके अनुसार जनसाधारण में प्रचारित ध्यान का ‘लक्ष्य’ अर्थात सम्पूर्ण विचारशून्यता, एक बकवास बात है!

Continue Readingध्यान में विचारशून्यता की बात महज भ्रम है या व्यापार कौशल! 11 नवंबर 2013

आप ‘ध्यान’ लगा रहे हैं या सिर्फ उसका दिखावा कर रहे हैं? – 5 अप्रैल 2013

स्वामी बालेन्दु ध्यान का विश्लेषण करते हैं कि उनकी नज़र में ध्यान क्या है?

Continue Readingआप ‘ध्यान’ लगा रहे हैं या सिर्फ उसका दिखावा कर रहे हैं? – 5 अप्रैल 2013

क्या आप ध्यान साधना की अवधि से किसी की चेतना के स्तर को नाप सकते हैं? – 4 अप्रैल 2013

स्वामी बालेन्दु उस प्रश्न का उत्तर देते हैं जब किसी ने उनसे पूछा कि आप कितने घंटे ध्यान करते हो?

Continue Readingक्या आप ध्यान साधना की अवधि से किसी की चेतना के स्तर को नाप सकते हैं? – 4 अप्रैल 2013