आपका प्रत्यक्ष ज्ञान (ग्रहण-बोध) आपकी दुनिया को बदल देता है – 21 अक्टूबर 2015

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि कैसे आपका लालन-पालन, आपकी संस्कृति, और आपकी परिस्थितियाँ आपके दृष्टिकोण को प्रभावित करते हैं-और कैसे आप अधिक सकारात्मक बन सकते हैं!

Continue Readingआपका प्रत्यक्ष ज्ञान (ग्रहण-बोध) आपकी दुनिया को बदल देता है – 21 अक्टूबर 2015

ध्यान कैसे करें-एक ऐसी चीज़ का मार्गदर्शक (गाइड) जिसके लिए मार्गदर्शन की ज़रूरत ही नहीं है- 14 नवंबर 2013

स्वामी बालेंदु बगैर किसी तामझाम और प्रदर्शन (आडंबर) के, सिर्फ सजग और चैतन्य रहते हुए और यहाँ तक कि अपने दैनिक कार्यक्रमों को करते हुए ध्यान करने के लिए कुछ हिदायतें और सुझाव दे रहे हैं।

Continue Readingध्यान कैसे करें-एक ऐसी चीज़ का मार्गदर्शक (गाइड) जिसके लिए मार्गदर्शन की ज़रूरत ही नहीं है- 14 नवंबर 2013

ध्यान-योग कोई रहस्य नहीं है लेकिन परेशानी यह है कि आप ऎसी चीज़ नहीं बेच सकते, जो सबको उपलब्ध हो-13 नवंबर 2013

स्वामी बालेंदु ध्यान-योग की अपनी परिभाषा प्रस्तुत कर रहे हैं और समझा रहे हैं कि क्यों यह परिभाषा आम तौर पर इस्तेमाल नहीं की जाती। इसके पीछे छिपे व्यापार को समझने के लिए पढ़ें!

Continue Readingध्यान-योग कोई रहस्य नहीं है लेकिन परेशानी यह है कि आप ऎसी चीज़ नहीं बेच सकते, जो सबको उपलब्ध हो-13 नवंबर 2013