भरोसा करना अच्छी बात है – मगर अपने शक पर भी भरोसा करें – 16 नवंबर 2015

स्वामी बालेंदु उन बेईमान लोगों के बारे में लिख रहे हैं जो आपसे उन पर विश्वास करने की गुज़ारिश करते हैं-लेकिन सवाल यह है कि आपको कैसे पता चले कि उनके विषय में आपका शक सही हैं या नहीं!

Continue Readingभरोसा करना अच्छी बात है – मगर अपने शक पर भी भरोसा करें – 16 नवंबर 2015

भविष्य की योजनाओं को लेकर मैं परेशान क्यों नहीं होता: मुझे भरोसा है, मगर ईश्वर पर नहीं – 14 जून 2015

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि क्यों वे भविष्य की योजनाएँ बनाते हुए ज़रा भी परेशान नहीं होते। धर्म रहित सकारात्मकता और विश्वास के बारे में यहाँ पढ़ें।

Continue Readingभविष्य की योजनाओं को लेकर मैं परेशान क्यों नहीं होता: मुझे भरोसा है, मगर ईश्वर पर नहीं – 14 जून 2015

जब मैं अपनी भावनाओं की कदर नहीं करता तो अपनी ऊर्जा गँवा रहा होता हूँ – 7 जून 2015

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि उन भावनाओं या एहसासात की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए, जिनके अनुसार आपको महसूस होता है कि किसी व्यक्ति से आगे किसी भी तरह का संबंध रखना मुमकिन नहीं होगा! क्यों? यहाँ पढ़ें।

Continue Readingजब मैं अपनी भावनाओं की कदर नहीं करता तो अपनी ऊर्जा गँवा रहा होता हूँ – 7 जून 2015

खुद अपने आप पर भरोसा करें: आप परिवर्तन ला सकते हैं और उनसे लाभ भी उठा सकते हैं – 25 मार्च 2015

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि बदलावों को स्वीकार करने के लिए अधिक विश्वास की जरूरत पड़ती है। अनजान रास्तों पर निकल पड़ने से न घबराएँ।

Continue Readingखुद अपने आप पर भरोसा करें: आप परिवर्तन ला सकते हैं और उनसे लाभ भी उठा सकते हैं – 25 मार्च 2015

विश्वास और प्रेम की अनुभूति – 15 फरवरी 2015

स्वामी बालेंदु प्रेम, विश्वास और खुद अपने सम्बन्धों के बारे में लिखते हुए पुरुषों और स्त्रियॉं, दोनों में मौजूद आदिम एहसासों और उनमें पाई जाने वाली संरक्षण देने और संरक्षण पाने की प्रवृत्तियों के बारे में लिख रहे हैं।

Continue Readingविश्वास और प्रेम की अनुभूति – 15 फरवरी 2015

क्या किया जाए जब आप शादीशुदा हों और अपने जीवन साथी को धोखा देने का विचार कर रहे हों? 13 अक्टूबर 2014

स्वामी बालेन्दु बता रहे हैं कि ऐसी हालत में खुद अपने आपसे आपको क्या प्रश्न करना चाहिए- और इसके क्या परिणाम हो सकते हैं।

Continue Readingक्या किया जाए जब आप शादीशुदा हों और अपने जीवन साथी को धोखा देने का विचार कर रहे हों? 13 अक्टूबर 2014

परस्पर विश्वास की कमी जीवन को मुश्किल बना देती है – 5 जून 2014

स्वामी बालेन्दु समझा रहे हैं कि कैसे आपसी नजदीकी का न होना परस्पर विश्वास को कम करता है। इसके परिणामों के बारे में पढ़िए और विचार कीजिए कि क्या आप अपने लिए इसमें कोई परिवर्तन चाहते हैं!

Continue Readingपरस्पर विश्वास की कमी जीवन को मुश्किल बना देती है – 5 जून 2014

वह व्यक्ति, जिसके सामने आप कल्पनाओं की सभी सीमाओं तक नग्न हो सकते हैं! 3 दिसंबर 2013

स्वामी बालेंदु बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड या पति-पत्नी या जीवन साथियों के बीच होने वाले नजदीकी संबंध की विशेषता का वर्णन कर रहे हैं।

Continue Readingवह व्यक्ति, जिसके सामने आप कल्पनाओं की सभी सीमाओं तक नग्न हो सकते हैं! 3 दिसंबर 2013

सम्पूर्ण विश्वास बहुत खतरनाक होता है, सिर्फ दिखावा कीजिए कि आप ईश्वर पर भरोसा करते हैं 4 जुलाई 2013

स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि अधिकतर लोग जो कहते हैं कि वे ईश्वर पर विश्वास करते हैं, दरअसल सिर्फ दिखावा करते हैं। वे क्यों ऐसा सोचते हैं, यहाँ पढ़ें!

Continue Readingसम्पूर्ण विश्वास बहुत खतरनाक होता है, सिर्फ दिखावा कीजिए कि आप ईश्वर पर भरोसा करते हैं 4 जुलाई 2013

आप ईश्वर और धर्मग्रंथों पर किस हद तक विश्वास कर सकते हैं, इसका एक उदाहरण – 3 जुलाई 2013

स्वामी बालेंदु एक प्रकरण की याद कर रहे हैं जिसमें ईश्वर प्राप्ति की तमन्ना में पूरा परिवार सामूहिक आत्महत्या कर लेता है।

Continue Readingआप ईश्वर और धर्मग्रंथों पर किस हद तक विश्वास कर सकते हैं, इसका एक उदाहरण – 3 जुलाई 2013