एक नयी परियोजना: बच्चों के लिए नए योग-वस्त्र और चटाइयाँ!-19 अगस्त 2013

योग

अगर आप हमारे सूचना-पत्र के नियमित पाठक हैं तो संभवतः आपको इस बारे में जानकारी होगी, जिसे आज मैं आगे बता रहा हूँ। हमने एक नयी योजना शुरू की है: हमें अपने स्कूल के बच्चों को योग करने के दौरान इस्तेमाल होने वाली चटाइयाँ और योग-वस्त्र उपलब्ध कराने हैं-और इस कार्य में हम आपका सहयोग पाकर प्रसन्न होंगे!

साल भर हमारे आश्रम में मिलने-जुलने वाले आते रहते हैं। वे हमारे स्कूल आते हैं, बच्चों के साथ खेलते हैं, वे उन्हें भोजन करता देखते हैं और अपनी कक्षाओं में उन्हें रोज़ योग करता हुआ देखकर खुश होते हैं। चाहे वे योग-विश्रांति शिविर में आएँ चाहे आसपास के इलाकों में घूमने-फिरने या चाहे सिर्फ आराम फरमाने आएँ, सभी को बच्चों से खुशी-खुशी मिलवाया जाता है। स्कूल की योग कक्षाएँ हमें पसंद हैं और इस बात पर हमें गर्व है कि हमारे बच्चे योग भी सीखते हैं-लेकिन उनके योग-वस्त्र और योग में इस्तेमाल होने वाली चटाइयाँ बहुत खराब हो गई हैं और देखने में अच्छी नहीं लगतीं!

हमने सन 2010 में योग कक्षाएँ शुरू की थीं। हमारे स्कूल में जिम नहीं था कि बच्चों के खेल-कूद का कोई इंतज़ाम हो सके, मगर शारीरिक व्यायाम भी ज़रूरी था-इस तरह योग कक्षाएँ शुरू करने का हमारा निर्णय तर्कसम्मत ही था। स्पष्ट ही, योग करने में उस तरह, बहुत बड़े स्थान की आवश्यकता नहीं होती जैसी कि दूसरे व्यायामों में होती है। बच्चों के लिए सिर्फ एक चटाई की आवश्यकता होती है। यही हमने किया-और हमारा वह प्रयास बहुत सफल भी हुआ। बच्चों ने उसे बहुत पसंद किया, हमारे मेहमान भी उन्हें योग करता देखकर बड़े खुश होते हैं और कई तो उनके साथ योग करना भी शुरू कर देते हैं।

अंग-संचालन के अलावा योग मानसिक रूप से भी बच्चों के लिए बड़ा लाभप्रद है। योग सिर्फ शारीरिक व्यायाम ही नहीं है बल्कि एकाग्रता, याददाश्त और विचारों को केन्द्रित करने में भी वह बड़ा लाभप्रद साबित होता हैं। इसके अलावा, जब कि दूसरे खेल बच्चों में प्रतियोगिता की भावना का संचार करते हैं, जिसमें हमेशा दूसरों पर और दूसरों के विकास पर ध्यान देना पड़ता है, योग में खुद पर ही ध्यान केन्द्रित करना पड़ता है। वैसे ही, भविष्य में बच्चों को तीव्र प्रतिस्पर्धा का सामना करना है-स्कूल और ‘खेल’ की कक्षाओं में इसकी आवश्यकता नहीं है।

जब बारिश नहीं होती थी, स्कूल आने पर बच्चे रोज़ योग किया करते थे। वे अपने सामान्य कपड़े पहनकर योग करते थे और सप्ताहांत में उन्हें धो लेते थे। वे अपनी चटाइयाँ रोज़ उठाते और उन्हें एक साथ रख देते। इस बात को तीन साल हो चुके हैं, उन्हीं चटाइयों में और उन्हीं योग-वस्त्रों में उन्होंने तीन साल योग किया। स्वाभाविक ही बच्चे बड़े हो चुके हैं। कुछ पतलूनें अब कैप्री जैसी दिखाई देती हैं क्योंकि बच्चे ऊंचे हो चुके हैं, वस्त्रों का रंग उड़ गया है और उन पर छपी आकृतियाँ खराब हो चुकी हैं। घर्षण से चटाइयाँ, उन जगहों पर बुरी तरह घिस गई हैं, जहां हाथ और पैर ज़्यादा पड़ते हैं। कुछ चटाइयाँ पूरी तरह फट चुकी हैं और फेंक दी गई हैं।

मुझे लगता है कि आप वस्तुस्थिति समझ रहे हैं और अब अगर मैं आपसे कहूँ कि हमारे यहाँ इस साल बहुत से नए विद्यार्थी भी आ गए हैं, और जो सबसे छोटे हैं उन्हें योग नहीं करना चाहिए क्योंकि सबके लिए पर्याप्त चटाइयाँ उपलब्ध नहीं हैं तो आपके सामने परिस्थिति की गंभीरता और भी अधिक स्पष्ट हो जाएगी। इसीलिए नई चटाइयाँ और नए योग-वस्त्र खरीदने की हमारी यह परियोजना प्राथमिकता के साथ पूरी की जानी ज़रूरी है। दूसरी अति आवश्यक वस्तुओं की खरीद के मद्देनजर-जैसे भोजन और शिक्षण के मद में होने वाला खर्च-अब तक हम इन वस्तुओं की खरीद को मुल्तवी करते रहे हैं, लेकिन आज हम आपसे गुजारिश करते हैं कि बच्चों को अच्छे योग वस्त्रों में और नई चटाइयों पर योग करने की सुविधा प्रदान करने के हमारे इस अभियान में आप भी सहभागी बनें!

योग-वस्त्रों और चटाइयों की अनुमानित लागत कुल 1500 यूरो है। एक व्यक्ति के लिए यह बहुत बड़ी राशि है और एक ही मद में इतनी बड़ी राशि खर्च करना हमारे लिए संभव नहीं है। लेकिन अगर आप सब थोड़ी-थोड़ी राशियों से हमारी मदद करेंगे तो मुझे विश्वास है कि हम अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकेंगे।

यहाँ आप इस संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और अपना अंशदान भी कर सकते हैं

हमारी मदद कीजिए! आपके सहयोग की न सिर्फ हम कद्र करते हैं बल्कि योग परिवार के बीच या ऐसे व्यक्तियों के बीच, जो बच्चों के लिए योग के लाभों के प्रति जाग्रत है, इस परियोजना के प्रचार के लिए किए जाने वाले आपके प्रयासों के लिए भी हम आभार व्यक्त करते हैं। योगी, योग शिक्षक, योग विद्यार्थी और सभी जिनके दिल बच्चों के लिए धड़कते हैं-हम उन सभी से अंशदान प्राप्त करके प्रसन्न होंगे!

मैं आप सबको अग्रिम धन्यवाद देता हूँ और एक बार यह परियोजना पूरी हो जाए, फिर मैं बच्चों के नए योग-वस्त्र और नई चटाइयाँ आपको दिखाने हेतु प्रस्तुत रहूँगा!

%d bloggers like this:
Skip to toolbar