खूबसूरत ग्रान कनारिया द्वीप पर आनंद मनाते हुए – 25 जून 2014

शहर:
लस पाल्मास डे ग्रान कनारिया
देश:
स्पेन

ग्रान कनारिया के हमारे दौरे का यह अंतिम सप्ताह है और मैं सोचता हूँ, यहाँ की अपनी गतिविधियों की एक झलक आपके सम्मुख प्रस्तुत करने का यह उचित समय है। आपको भी तो पता चले कि यहाँ क्या चल रहा है, हम लोग क्या कर रहे हैं, कैसे इस सुंदर द्वीप की खुली वादियों में मौज-मस्ती कर रहे हैं!

क्योंकि अपने कुछ कार्यक्रम प्रस्तुत करने हम यहाँ आए हैं इसलिए शुरू में ही तरह-तरह की कार्यशालाएँ और कई व्यक्तिगत सत्र आयोजित कर चुके हैं। लेकिन हमारी प्यारी मित्र बेट्टी के साथ हमें न सिर्फ काम करने का बल्कि ग्रान कनारिया में घूमने-फिरने और वहाँ रहने वाले लोगों को नजदीक से जानने-समझने का मौका भी मिला कि वे कैसे जीवन बिताते हैं, उनका यह द्वीप कैसा नज़र आता है, यहाँ क्या-क्या देखने लायक हैं!

इसे महाद्वीपों का लघु रूप (miniature continent) कहा जाता है और हमने पाया कि यह बात पूरी तरह सच है। हम मज़ाक-मज़ाक में कहते रहते हैं कि यह भारत की तरह है, जहाँ साल के किसी भी समय किसी भी मौसम का आनंद लिया जा सकता है-फर्क सिर्फ इतना है कि ऊपर से नीचे तक इस द्वीप को कार द्वारा ज़्यादा से ज़्यादा तीन घंटे में पार किया जा सकता है! ग्रान कनारिया और कैनेरी द्वीप स्पेन के अधिपत्य में है मगर वास्तव में दोनों ही मुख्य भूमि से बहुत दूर हैं और अफ्रीका से ज़्यादा नजदीक पड़ते हैं। मोरक्को यहाँ से सिर्फ 95 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और आप आराम से जहाज़ से वहाँ पहुँच सकते हैं!

हम लोग यहाँ की राजधानी, लास पामास डी ग्रान कनारिया में रह रहे हैं। हमारा फ्लैट समुद्र किनारे बीच पर ही है-और इसलिए हम लगभग रोज़ ही बीच पर घूमने निकल जाते हैं! यह शहर द्वीप के दक्षिणी भाग में है मगर हमारे कुछ कार्यक्रम उत्तरी भाग में भी आयोजित थे और एक दिन हम उस तरफ घूमने-फिरने और पर्यटन के इरादे से भी चले गए थे। मैं अचंभित रह गया था: हम लोग विशाल सैंड ड्यून्स (रेट के टीलों) पर खड़े थे और जैसे सामने विशाल रेगिस्तान था और पीछे समुद्र! यह अद्भुत जगह मास पालोमास कहलाती है।

रेत के टीलों के बाद हम पर्यटन के लिए ग्रान कनारिया के सबसे मशहूर समुद्री बीच पर घूमने गए और एक बार फिर वहाँ की नर्म रेत और समुद्र का आनंद लिया। तो इस तरह निश्चय ही हम पर्यटकों के रूप में भी इस जगह पूरा-पूरा मज़ा ले रहे हैं-और यह सब उस जगह, जहाँ जर्मन पर्यटक इतनी अधिक संख्या में आते हैं कि यहाँ के सभी सूचना-पट्ट स्पेनिश और अंग्रेजी के अतिरिक्त जर्मन भाषा में भी लिखे गए हैं और रेस्तराँ में वेटर जर्मन भाषा भी बात करते हैं। यहाँ तक कि यहाँ जर्मन टीवी कार्यक्रमों की जानकारी युक्त पत्रिकाएँ भी प्राप्त हो सकती हैं।

एक दिन बेट्टी हमें पहाड़ियों पर ले गई-बहुत ऊंचे नहीं- और हमें इलाके के अंदरूनी हिस्सों में स्थित गाँवों, चित्ताकर्षक प्राकृतिक दृश्यों और वहाँ की सुन्दर इमारतों का दर्शन कराया। वहाँ हमें पर्यटक दिखाई नहीं दिए, केवल स्थानीय लोग अपने दैनिक कार्यों में लगे हुए। दरअसल यह द्वीप इतना छोटा है कि सिर्फ गाँवों में ही नहीं, पूरे द्वीप में अधिकांश लोग एक-दूसरे को अच्छी तरह जानते हैं! बेट्टी के साथ हम जहाँ भी गए उसके जान-पहचान का कोई न कोई मिल ही जाता-यहाँ तक कि ग्रान कनारिया से टेनेरिफ आते और वापस जाते हुए जहाज़ पर भी!

टेनेरिफ द्वीप कैनेरी द्वीप समूह का ही एक द्वीप है, जहाँ हम तीन दिन पहले गए थे। वहाँ हमारी तीन डांस-पार्टियाँ संपन्न हुईं-और थोड़ा पर्यटन भी। टेनेरिफ द्वीप पर आप और स्पष्टता से देख सकते हैं कि कैनेरी द्वीप-समूह ज्वालामुखी से उत्त्पन्न द्वीप-समूह है। सारे द्वीप पर कई ऊँची-नीची पहाड़ियाँ हैं और समुद्र किनारे आप देख सकते हैं कि यहाँ के पत्थर कभी पिघला लावा रहे होंगे और बाद में ठन्डे होकर पत्थरों और चट्टानों में तब्दील हो गए। वहाँ चट्टानों और नीले समुद्र के बीच रमोना, यशेंदु और बेट्टी ने तैराकी का खूब मज़ा लिया! बाद में, मैंने और अपरा ने भी स्वीमिंग पूल का एक चक्कर लगाकर कसर पूरी की!

और इस वक़्त मैं ज़ायकेदार, ताज़े संतरे के रस से भरे गिलास को उठाकर आप सभी शानदार मित्रों के लिए कामना कर रहा हूँ कि आपका समय भी इसी तरह खुशगवार हो- दुनिया में एक से एक जगहें हैं, जहाँ मित्रों और परिवार के साथ सुखद समय व्यतीत किया जा सकता है!