उड़द की दाल – काली उड़द की दाल बनाने की विधि – 14 जून 2014

पाक कला

भारत में कई तरह की दालें उपलब्ध होती हैं और हर दाल का अपना अलग स्वाद होता है। वे भारतीय भोजन का अनिवार्य हिस्सा होती हैं और आज मैं आपको एक और दाल बनाने की विधि बताना चाहता हूँ। आप देखेंगे कि सिर्फ दाल बदल देने भर से आपको उस व्यंजन का अलग स्वाद प्राप्त होता है। चलिए, नीचे लिखी विधि से उड़द की दाल पकाएँ और उसके अनोखे स्वाद से अपने भोजन को और लज़ीज़ और लुभावना बनाएँ!

उड़द की दाल – काली उड़द

थोड़ी गरिष्ठ और प्रोटीन से भरपूर इस खास दाल को घर पर बनाएँ और मित्रों के साथ उसका मज़ा लें!

उड़द की दाल बनाने में कितना वक़्त लगता है?

कुल समय:
इसके अतिरिक्त लगभग आधा घंटा दाल को भिगोकर रखना होता है।

सामग्री


150 ग्राम उड़द की दाल, काली उड़द
1.5 लीटर पानी
2 टमाटर
1 बड़े चम्मच घी
1 छोटी चम्मचज़ीरा
1 छोटी चम्मचअदरक (बारीक कटा हुआ)
1 छोटी चम्मचधनिया पाउडर
1/2 छोटी चम्मचहल्दी पाउडर
स्वाद के अनुसार नमक

उड़द की दाल कैसे पकाएँ?

दूसरी बड़ी दालों की तरह ही आपको पकाना शुरू करने से पहले उड़द की दाल को भी लगभग आधा घंटा पानी में भिगोकर रखना होता है। इससे दाल थोड़ी नर्म हो जाती है और तब उसे उबालने में या पकाने में ज़्यादा वक़्त नहीं लगता।

एक बरतन में पानी और उड़द की दाल को साथ लेकर उसे स्टोव पर उबलने के लिए रख दें। लगभग आधे घंटे तक उड़द की दाल को उबलने दें और बीच-बीच में उसे चलाते रहें, जिससे वह बरतन में नीचे लगे नहीं। इतने समय में वह पर्याप्त नर्म हो जाती हैं।

इस बीच आप टमाटर धोकर बारीक टुकड़ों में काट लें। अदरक छीलकर उसे भी बहुत बारीक काटकर अलग रख लें। दाल में मिलाने के लिए हमें लगभग आधा छोटा चम्मच ताज़ा अदरक चाहिए। बीच-बीच में दाल को भी देखते रहें और आधा घंटे बाद उसे उँगलियों से मसलकर भी देखें कि वह पर्याप्त नर्म हो गई है या नहीं। जब वह पर्याप्त नर्म हो जाए, बरतन को स्टोव पर से उतार लें।

आपका अगला काम होगा तड़का तैयार करना, जोकि सब मसालों का मिश्रण होता है। एक कड़ाही में घी गरम करें और जब वह पर्याप्त गरम हो जाए उसमें जीरा, हींग, धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर और अंत में ताज़ा अदरक मिलाकर अच्छी तरह चलाएं। थोड़ी देर चलाते रहें, जिससे मसालों की खुशबू आने लगे और वे जलें नहीं। जब रसोई मसालों की लुभावनी खुशबू से गमकने लगे और उनका रंग बदलकर थोड़ा सुनहरा या हल्का भूरा हो जाए तो उसमें टमाटर मिला दें और मिश्रण को अच्छी तरह चलाएं। बीच-बीच में मिश्रण को चलाते हुए टमाटर को अच्छी तरह पककर मुलायम हो जाने दें, जिससे मसाले भी उनके साथ मिलकर एकसार हो जाएंगे।

जब टमाटर अच्छी तरह पककर लगभग उसकी लुगदी या प्यूरी बन जाए तो मिश्रण को स्टोव पर से नीचे उतार लें और उसे दाल में मिलाकर अच्छी तरह चलाएं। स्वाद के अनुसार नमक मिलाएँ और चाहें तो ताज़ी, साफ, कटी हुई धनिया पत्ती रखकर उसकी सजावट भी कर लें।

बस, अब भोजन के साथ इस दाल का मज़ा लें!

Leave a Comment