सोआ मूंग दाल – सोआ के साथ मूंग की दाल बनाने की विधि – 23 अगस्त 2014

पाक कला

आज का व्यंजन है सोआ मूंगदाल, जो मुझे व्यक्तिगत रूप से बहुत पसंद है और मुझे विश्वास है कि वह उन सबकी भी पसंदीदा डिश बन जाएगी, जो सोआ पसंद करते हैं:सोआ मूंगदाल-सोआ के साथ मूंगदाल मिलाकर बनाया जाने वाला व्यंजन!

सोआ मूंगदाल – सोआ के साथ मूंगदाल

खाने में मज़ेदार, बनाने में आसान और आसानी के साथ हजम हो जाने वाली डिश!

सोआ मूंगदाल बनाने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
पकाने में:
कुल समय:

सामग्री

1 कप मूंग की दाल
100 ग्राम सोआ
3 कप पानी
1 बड़ा चम्मच वनस्पति तेल
1 छोटी चम्मचज़ीरा
1/2 छोटी चम्मचहल्दी
स्वाद के अनुसार नमक

सोआ मूंगदाल कैसे तैयार करें?

सबसे पहले आपको सोआ को लेकर तैयारी करनी होगी। उसकी बड़ी डंठलों को निकाल दें और बचे हुए हिस्से को बारीक टुकड़ों में काट लें। अब एक बरतन में पानी और मूंगदाल लेकर स्टोव जलाकर उसे तेज़ आँच पर उबलने के लिए रख दें। थोड़ा सा नमक और हल्दी पाउडर मिलाकर चलाएँ और बरतन पर ढक्कन रख दें।

उबलने में ज़्यादा समय नहीं लगेगा लेकिन आपको उस पर नज़र रखनी होगी अन्यथा पानी बरतन के बाहर आने लगेगा और स्टोव को गंदा करेगा। जब पानी उबलने लगे तो स्टोव की आँच को थोड़ा कम कर दें और ढक्कन खोलकर उसमें सोआ मिला दें। मिश्रण को कुछ देर चलाकर बरतन पर पुनः ढक्कन रख दें। ऊपर छेद वाला ढक्कन हो तो ठीक होगा मगर सादा ढक्कन है तो उसे इस तरह रखें कि भाप निकलने की जगह बनी रहे। मुख्य बात यह है कि भाप बाहर निकलती रहे। बीच-बीच में इस मिश्रण को चलाते रहें।

बीस मिनट बाद आपकी दाल पककर मुलायम हो गई होगी और सोआ दाल के साथ अच्छी तरह मिल गया है। मैं इसे थोड़ा गाढ़ा पसंद करता हूँ इसलिए स्टोव बंद करने से पहले थोड़ा और इंतज़ार करता हूँ कि दाल मेरे मन मुआफिक गाढ़ी हो जाए।

अंत में आपको सिर्फ एक कड़ाही में तेल गरम करके दाल में तड़का भर लगाना है। तो, एक कड़ाही लेकर उसमें तेल गरम करें और जब वह पर्याप्त गरम हो जाए तो उसमें जीरा डालकर चलाएँ। जीरे न जले इसलिए उसे चलाना आवश्यक है। जब जीरे की महक रसोई में फैलने लगे और वह भुनकर हल्का सुनहरा हो जाए तो इस तड़के को सीधे सोआ मिश्रित दाल में झोंक दें। इस सारे मिश्रण को एक बार और चलाएँ और लीजिए, आपकी सोआ मूंगदाल तैयार हो गई!

भोजन साथ इस दाल के चटखारे लीजिए!

%d bloggers like this:
Skip to toolbar