जुकीनी और टमाटर से बना व्यंजन – 2 फरवरी 2013

शहर:
वृन्दावन
देश:
भारत

हमारे आयुर्वेद योग-अवकाश के दौरान हम अक्सर लौकी का इस्तेमाल करते हैं क्योंकि आयुर्वेद के अनुसार वह हल्की और स्वास्थ्यवर्धक होती है और हर किस्म के शरीर वालों के लिए मुफीद होती है। क्योंकि दूसरे कई देशों में लौकी मिलना मुश्किल होता है इसलिए स्क्वाश परिवार की ही एक दूसरी सब्जी से बनने वाले एक व्यंजन का नुस्खा आज मैं बताने जा रहा हूँ। इसे जुकीनी (Zucchini) कहते हैं और जो भारत में या कम से कम यहाँ वृंदावन में प्राप्त नहीं होती मगर दुनिया के अधिकांश मुल्कों में आसानी के साथ मिल जाती है।

टमाटर और जुकीनी

हल्का, स्वास्थ्यवर्धक और साथ ही स्वादिष्ट भी! आहार में संतुलन लाने के लिए भूमध्यसागरीय भोजन में भारतीय मसालों का उपयोग करते हुए यह व्यंजन बनाएँ।

टमाटर और जुकीनी बनने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
पकाने में:
कुल समय:

सामग्री


1 किलोग्राम जुकीनी
200 ग्रामटमाटर
2 बड़े चम्मच ज़ैतून का तेल अथवा जिस भी तेल में आप भोजन बनाते हैं|
1/2 छोटी चम्मच राई
2 छोटी चम्मच अदरक (बारीक कटा हुआ)
1/2 छोटी चम्मच गरम मसाला
1 छोटी चम्मच धनिया पाउडर
1/2 छोटी चम्मच हल्दी पाउडर
5-8 करी पत्तियां
स्वाद के अनुसार नमक

टमाटर और जुकीनी कैसे बनाते हैं?

टमाटर और जुकीनी को अच्छे से धो लें। जुकीनी को मध्यम आकार में और टमाटर को छोटे आकार में काट लें और अलग-अलग रखें।

एक कढ़ाई में जैतून का तेल गरम करें। अच्छा गरम होने पर राई डालें, उसके तड़क जाने पर अदरक डालकर कुछ देर चलाएं। कुछ देर में जब इन मसालों की थोड़ी सुगंध आने लगे, गरम मसाला, धनिया पट्टी, हल्दी पाउडर और करी पत्ते डालकर फिर से चलाएं।

जब सारे मसाले अच्छे से भुन जाएँ तब टमाटर मिला दें और सारे मिश्रण को पाँच मिनट पकने दें। बीच-बीच में चलाते रहें। जब थोड़ा पक जाए (half-cooked) तब जुकीनी , थोड़ा सा नमक मिलाकर अच्छे से कुछ देर चलाते रहें जिससे सारी चीज़ें ठीक से मिल जाएँ और फिर ढक्कन रख दें। इन सारी चीजों को लगभग पाँच से सात मिनट और पकने दें। बीच-बीच में देखते रहें कि कढ़ाई में कितना पानी बच गया है। यह आपके स्वाद पर निर्भर करेगा कि आप अपनी डिश में कितनी तरी चाहते हैं और उसे कितना मुलायम बनाना चाहते हैं। अगर आप तरी कम चाहते हैं तो ढक्कन खोलकर जुकीनी को खुले में पकने दें जिससे पानी भाप बनकर उड़ जाएगा। आपकी पसंद के मुताबिक तरी हो जाए और जुकीनी पर्याप्त पक जाए तो समझिए आपकी डिश तैयार है!