मंगोड़ी – मूंग के पकौड़े बनाने की विधि- 7 दिसंबर 2013

शहर:
वृन्दावन
देश:
भारत

पिछले कुछ हफ्तों में मैं आपको बहुत से स्वास्थ्यकर व्यंजन बनाने की विधियाँ बता चुका हूँ। आज मैं आपको एक लोकप्रिय भारतीय नाश्ता बनाने की विधि बताना चाहता हूँ, जो तलकर तो बनाया जाता है मगर होता मूंग की छिलके वाली दाल का होता है इसलिए वह भले ही आयुर्वेदिक नाश्ता नहीं है और इसमें वसा की मात्रा भी काफी होती है मगर उसमें प्रोटीन भी होता है, जो स्वस्थ शरीर के लिए आवश्यक है! और यह बहुत स्वादिष्ट होता है, विशेषकर चटनी के साथ: मंगोड़ी, मूंग से बनाए जाने वाले पकौड़े-बेहद स्वादिष्ट!

मंगोड़ी – मूंग के पकौड़े

विशेष तरह के तले हुए पकौड़े बनाएँ: मूंग के पकौड़े जिन्हें गर्म तेल में तलकर बनाया जाता है! इस स्वादिष्ट, घर में तैयार नाश्ते का आनंद उठाएँ!

मंगोड़ी बनाने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
पकाने में:
कुल समय:

मंगोड़े बनाने की इस तैयारी से पहले मूंग की छिलके वाली दाल को आधा घंटा पानी में भिगोकर रखना होगा।

सामग्री


100 ग्राम छिलके वाली मूंग दाल
500 मिलीलीटर पानी
20 ग्राम ताज़ा हरी धनिया-पत्ती
1 छोटी चम्मच खड़ा धनिया
तलने के लिए पर्याप्त मात्रा में तेल

स्वाद के अनुसार नमक

मंगोड़ी कैसे तैयार करें?

मंगोड़ी तैयार करने से पहले मूंग को आधा लीटर पानी में आधा घंटे तक भिगोकर रखना होगा। ऐसा करने से मूंग थोड़े मुलायम हो जाएंगे। इस बीच धनिया पत्ती चुनकर उसे अच्छी तरह धो लें।

आधे घंटे बाद मूंग को पानी से बाहर निकाल लें मगर पानी को फेंकें नहीं। एक ग्राइन्डर में मूंग लेकर और उसमें थोड़ा सा पानी डालकर गाढ़ा, बारीक पेस्ट बना लें। पेस्ट इतना गाढ़ा होना चाहिए कि उंगली पर लेने पर वह बहकर नीचे ना गिरे। आपको इस पेस्ट को थोड़ा-थोड़ा लेकर गर्म तेल में डालना होगा। थोड़ा अभ्यास होने पर आप उचित मात्रा में पानी के साथ उसे पीस सकेंगे। लेकिन अगर आपको लगता है कि वह थोड़ा ज़्यादा गाढ़ा या सूखा हो गया है तो उसमें पानी मिला लीजिए।

इस पेस्ट में धनिया-पत्ती और धनिये के बीज और स्वाद के अनुसार नमक मिलाकर मिश्रण को अच्छे से एकसार कर लीजिए।

उसके बाद एक कढ़ाई में तेल गर्म करें और जब वह काफी गर्म हो जाए तो स्टोव धीमा कर दें। मंगोड़ों को मध्यम आंच में तला जाता है। एक हाथ में मूंग का पेस्ट लेकर उसे थोड़ा-थोड़ा करके गर्म तेल में डालते जाएँ। (एक हाथ में मूंग का पेस्ट लेकर उसके छोटे-छोटे हिस्सों को गर्म तेल में डालते चले जाएँ।) मंगोड़े झनझनाहट की आवाज़ के साथ ऊपर आते जाएंगे और आप कुछ और पेस्ट लेकर तेल में मंगोड़ों का पेस्ट थोड़ा-थोड़ा डाल सकते हैं। लेकिन बहुत ज़्यादा मंगोड़े एक साथ न तलें। तेल के ऊपर पर्याप्त जगह होनी चाहिए, जिससे वे आपस में चिपके नहीं। तेल को धीमे-धीमे चलाते रहें जिससे मंगोड़े हर तरफ से समान रूप से सिंक जाएँ।

जब मंगोड़ियाँ हर तरफ से सिंककर सुनहरी हो जाएँ तो उन्हें निकाल लें और एक साफ सूती कपड़े पर रख दें, जिससे अतिरिक्त तेल कपड़े द्वारा सोख लिया जाएगा। अब इसके बाद आपको किसी अच्छे डिप, सॉस या चटनी की ज़रूरत है, जिसके साथ आप इन मंगोड़ियों का मज़ा ले सकें। जैसा की अक्सर लोग करते हैं, दोपहर में नाश्ते के रूप में मंगोड़ी का आनंद उठाएँ। वैसे आप भोजन के साथ खाने में भी उनका प्रयोग कर सकते हैं!