मक्की दी रोटी – मक्के के आटे की सुस्वादु रोटी बनाने की विधि – 28 दिसंबर 2013

पाक कला

आज मैं आपको रोटी बनाने एक ऐसा तरीका बताना चाहता हूँ, जिसे हम विशेष रूप से ठंड के मौसम में बनाते हैं क्योंकि आग तापने के लिए कोयले जलते रहते हैं और मक्के की रोटी इन्हीं जलते कोयले पर अच्छी सिंकती है। यह मूलतः पंजाब का व्यंजन है और यह इस रोटी का पंजाबी नाम है। यहाँ हम उसे मक्के की रोटी कहते हैं: दोनों का मतलब एक ही है-मक्के के आटे की रोटी। यह मक्के के आटे को बेलकर तैयार की जाने वाली चपटी रोटी होती है। यह बहुत स्वादिष्ट होती है, विशेष रूप से जलते अंगार से निकली गर्मागर्म रोटी!

मक्की दी रोटी-मक्के की रोटी

मक्के के आटे से तैयार रोटी-दिखने में सुंदर और स्वादिष्ट! खुद बनाकर देखें!

मक्की दी रोटी बनाने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
पकाने में:
कुल समय:

सामग्री


250 ग्राम मक्के का आटा
250 मिलीलीटर पानी
स्वाद के अनुसार नमक और सेंकने के लिए थोड़ा सा घी।

मक्की दी रोटी कैसे बनाएँ?

एक परात में मक्के का आटा लेकर उसमें थोड़ा-थोड़ा पानी मिलाते हुए आटे को माड़ते जाएँ। पूरे पानी से पाँच मिनट तक आटे को अच्छी तरह गूँधें। आटे तो तभी अच्छी तरह तैयार मानें, जब वह आपके हाथों पर या बर्तन पर चिपकना छोड़ दे।

अब इस आटे से आप गोल्फ बाल के बराबर के छोटे-छोटे टुकड़े काट लें। इनमें से एक टुकड़ा लेकर बेल लें। यह रोटी उतनी पतली नहीं होती, जैसी आम गेहूं की रोटी होती है। मोटी होने के बावजूद यह बहुत स्वादिष्ट होती है!

जैसा कि मैंने पहले बताया, हम इसे कोयले के जलते अंगारों पर बनाते हैं। इसके लिए सबसे पहले आप उसे तवे पर एक तरफ थोड़ा सा सेंक लें। रोटी को पलटकर दूसरी तरफ भी सेंक लें कि वह दोनों तरफ से थोड़ा सूख जाए। जब उसका चिपचिपापन दूर हो जाए, उसे सीधे जलते अंगारों पर रखकर सेंकें। बार-बार उसे उलटते-पलटते रहें, जिससे वह जलने न पाए मगर हर तरफ से सिंककर हल्की भूरी हो जाए। परोसने से पहले उसके एक तरफ घी या मक्खन लगाने का चलन है।

अगर आपको जलते हुए कोयलों के अंगारे उपलब्ध न हों तो इन्हें आप तवे पर पराठे की तरह भी बना सकते हैं। तवे पर रखकर मध्यम आंच में सेंकें और जैसा कि ऊपर बताया गया है, एक तरफ थोड़ा सूखने पर उसे पलट दें, फिर दूसरे हिस्से को सूखने दें और ऊपरी हिस्से पर एक चम्मच में थोड़ा सा घी लेकर रोटी पर फैला दें। फिर से रोटी को पलटकर ऊपरी सूखे हुए हिस्से पर घी चुपड़ दें। उलटने-पलटने की यह क्रिया दो तीन बार और करें और हर बार रोटी को झारे से या चम्मच से दबाते जाएँ, जिससे वह ठीक तरह से सिंक जाए। जब वह सिंककर भूरी हो जाए तब समझिए आपकी मक्की दी रोटी तैयार हो गई है!

रोटी को तवे पर से निकालकर गर्मागर्म परोसें। साथ में कोई डिप, कोई चटनी, कोई सब्जी भी परोसें, मज़ा आ जाएगा!

%d bloggers like this:
Skip to toolbar