गोभी पराँठा – फूल-गोभी का मसाला भरकर तैयार की गई भारतीय रोटी – 11 अप्रैल 2015

शहर:
वृन्दावन
देश:
भारत

हमें खाने में स्वादिष्ट पराँठे यानी दही, फल और कुछ और मसाले भरकर बनाई जाने वाली भारतीय रोटियों का नाश्ता पसंद है और अगर वे गोभी का मसाला भरकर तैयार किए जाने वाले गोभी-पराँठे हों तो कहना ही क्या!

गोभी-पराँठा – गोभी भरकर तैयार की जाने वाली भारतीय रोटी

गोभी भरकर तैयार की जाने वाली भारतीय रोटी घर पर बनाएँ और इस स्वादिष्ट नाश्ते के साथ दिन की शुरुआत करें!

गोभी-पराँठे तैयार करने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
पकाने में:
कुल समय:

सामग्री


250 ग्राम गेहूँ का आटा
1 नग फूल गोभी
150 मिलीलीटर पानी
1 बड़ा चम्मच घी

1/2 छोटी चम्मच नमक
भूनने या सेंकने के लिए वनस्पति तेल या घी

गोभी-पराँठा कैसे तैयार किया जाता है?

आटे में नमक मिलाएँ और इस मिश्रण के बीचोंबीच दबाकर एक छोटा सा गढ़ा बना लें और उसमें घी डालकर मिश्रण को थोड़ा एकसार कर लें। अब लगातार सधी हुई धार के साथ धीरे-धीरे पानी उंडेलते हुए तुरंत ही तेज़ी के साथ आटे को माड़ना शुरू करें। एक हाथ से पानी डालें और दूसरे से आटा माड़ते जाएँ। सारा पानी मिला देने के बाद आटा माड़ने का काम आप दोनों हाथों से कर सकते हैं। पाँच मिनट तक आटा माड़ने का काम जारी रखें।

इस आटे को अब 12 बराबर-बराबर भागों में विभक्त कर लें और हर भाग को हथेली पर लेकर गेंद की शक्ल दें। इन गोलों को अलग रख दें।

अब फूलगोभी उठाएँ और पत्ते निकालकर उसे अच्छी तरह धो लें। गोभी के बारीक फूलों से शुरू करते हुए पूरी गोभी को एक किसनी पर बारीक कीस लें।

इसके बाद आटे के गोलों को बेलना है! गोलों को चौके पर बीचोंबीच रखकर बेलन से उसे चपटा करते हुए गोल आकार में बेल लें। ध्यान रहे उसे लगभग 1 सेंटीमीटर मोटा बेलना है। अब एक छोटा चम्मच भरकर गोभी लें और उसे आटे की मोटी रोटी के बीचोंबीच रखें और चारों ओर से आटे की रोटी को मोड़ते हुए गोभी को ढँक दें और आटे के किनारों को दबाकर चिपका दें। अब इसे भी हथेली पर गोल घुमाकर फिर से गोला बना लें।

गोभी को आटे में भरने की प्रक्रिया सभी 12 टुकड़ों के साथ दोहराएँ। अब गोभी से भरा एक गोला लेकर उसे सूखे आटे में सान लें और फिर चौके पर रखकर बेलन की सहायता से तीन से पाँच मिलीमीटर पतला बेल लें। आटा चौके पर चिपके नहीं इसलिए बेलने से पहले चौके पर भी थोड़ा सा सूखा आटा फैला लेना चाहिए।

अब पराँठों को सेंकना है। तवा गर्म करें और जब वह पर्याप्त गर्म हो जाए, आँच को थोड़ा धीमा कर लें। पराँठे को तवे पर रखकर थोड़ी देर सिंकने दें। आप देखेंगे की आँच पराँठे को सुखा रही है और जब निचला हिस्सा पूरी तरह सूख जाए, पराँठे को पलट दें और यही प्रक्रिया दोहराते हुए उसे दूसरी तरफ भी सेंक लें। अब एक चाय का चम्मच लेकर उसे तेल या घी में डुबाएँ और थोड़ा सा तेल या घी लेकर पहले सिंकी हुई ऊपरी सतह पर फैला दें और पराँठे को पलट दें। इसके बाद तुरंत ही तेल या घी चुपड़ने की यह प्रक्रिया दूसरी तरफ भी दोहराएँ। एक झारा (spatula) लेकर पराँठे को थोड़ा दबाते जाएँ, जिससे पराँठा हर जगह से एक जैसा सिंक जाए। एक बार फिर पराँठे को पलट दीजिए और यही प्रक्रिया दूसरी सतह के साथ भी दोहराएँ और इस तरह दोनों तरफ से पराँठा एक जैसा हल्का सुनहरा सिंक जाएगा।

गोभी से भरे आटे के सभी गोलों के साथ यही पूरी प्रक्रिया दोहराते हुए पराँठे तैयार कर लें। दही या चटपटे अचार के साथ इस लाजवाब नाश्ते का मज़ा लें!