धनिया-रायता – धनिये की पत्तियां और दही को मिलाकर बनाया जाने वाला रायता – 19 अप्रैल, 2014

पाक कला

अब यहाँ काफी गर्मी पड़ने लगी है और गर्मी के मौसम में हम दही से बनी हुई वस्तुएं खाने को तरजीह देते हैं। भारत का बहुत लोकप्रिय व्यंजन, रायता बनाने के लिए कई तरह के विकल्प मौजूद हैं, जिनमें से अब तक मैं बहुत थोड़े से ही आपको बता पाया हूँ। आज मैं आपको धनिया-रायता बनाने की विधि बताता हूँ, जिसे धनिये की पत्तियों और दही को मिलाकर तैयार किया जाता है।

धनिया-रायता-धनिये की पत्तियाँ और दही को मिलाकर बनाया जाने वाला रायता

इस स्वादिष्ट और बनाने में सरल डिश को घर में तैयार कीजिए और गर्मियों में इसकी शीतलता का लाभ उठाइए!

धनिया-रायता बनाने में कितना वक़्त लगता है?

कुल समय:

सामग्री


1 गुच्छा धनिया पत्ती
100 ग्राम दही
250 ग्राम शिमला मिर्च
1 छोटी चम्मच ज़ैतून का तेल अथवा जिस भी तेल में आप भोजन बनाते हैं|
1 छोटी चम्मच ज़ीरा
1 चुटकी काला नमक
स्वाद के अनुसार नमक

धनिया-रायता कैसे बनाएँ?

धनिया पत्तियों को अच्छी तरह धोकर, जहां से पत्तियाँ शुरू होती हैं वहाँ से, डंठलों को निकालकर फेंक दें और पत्तियों को बारीक काट लें।

दही को हाथ से चलने वाले ब्लेंडर में लेकर अच्छी तरह मथ लें, जिससे वह थोड़ा पतला और एकसार हो जाए और उसमें से थोड़ा झाग भी निकलने लगे। इस दही में नमक और धनिया मिलाकर उसे अच्छी तरह एकसार कर लें।

एक कड़ाही में तेल गरम करें और जब वह पर्याप्त गरम हो जाए तो आधा चम्मच जीरा डालकर तड़का लगाएँ। उसे चलाते हुए थोड़ा भूनें, जिससे उसका रंग हल्का सुनहरा हो जाए। जब उसकी खुशबू आने लगे, उसे उतार लें और सीधे रायते में डाल दें-जब वह कड़कड़ाता है तो उसकी आवाज़ बड़ी मज़ेदार लगती है!

कड़ाही को साफ कर लें, जिससे उसमें तेल बिल्कुल न रह जाए और फिर उसमें बचा हुआ जीरा डालकर उसे तब तक भूनें जब तक कि उसका रंग बदलकर हल्का भूरा न हो जाए। एक मोर्टार में उसे बारीक पीस लें और आखिर में इस पिसे जीरे को रायते में मिला दें। यह डिश की सजावट का काम तो करता ही है, ऊपर से रायते में मिलकर उसका स्वाद द्विगुणित कर देता है। सजावट के लिए आप ऊपर से धनिया पत्तियों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। रायते को ठंडा करके परोसें-यह अधिक तरावटदार लगेगा!

बस, अब आप रायते का मज़ा ले सकते हैं!

Leave a Comment