भरवाँ करेले – करेलों को मसाले भरकर पकाने की विधि – 31 अक्टूबर 2015

पाक कला

आज मैं आपको एक बहुत ही स्वास्थ्यकर सब्जी तैयार करने की विधि बताना चाहता हूँ: करेला, जिसे अंग्रेज़ी में बिटर गॉर्ड कहते हैं। मैं आपको बताऊँगा कि करेलों में आलू और दूसरे भारतीय मसालों से तैयार स्वादिष्ट भरावन को कैसे भरा जाता है। दरअसल यह एक ऐसी सब्जी है, जिसे आम तौर पर लोग तेल में डीप फ्राई करते हैं, जिसके कारण, स्वाभाविक ही, उसके बहुत से स्वास्थ्यवर्धक तत्व नष्ट हो जाते हैं। इसीलिए हम इसे ओवन में भूनकर तैयार करेंगे और इस तरह हमें भोजन के साथ खाने के लिए न सिर्फ स्वादिष्ट बल्कि स्वास्थ्य के लिए लाभदायक सब्जी प्राप्त होगी!

भरवाँ करेला – मसाले भरकर पकाई जाने वाली करेले की सब्जी

थोड़ा से कड़ुए मगर बेहद स्वादिष्ट भरवाँ करेले बनाइए-आम विधियों की तुलना में स्वास्थ्य के लिए लाभदायक गुणों को सुरक्षित रखते हुए!

भरवाँ करेला पकाने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
पकाने में:
कुल समय:
इसके अलावा लगभग 3 घंटे उन्हें तैयार होने में लगता है।

सामग्री

1 किलोग्राम: करेला
500 ग्राम: आलू
1 बड़ा चम्मच: वनस्पति तेल
1/2 छोटी चम्मच गरम मसाला
1 छोटी चम्मच जीरा
1 छोटी चम्मच अदरक का पाउडर
1 छोटी चम्मच धनिया पाउडर
1/2 छोटी चम्मच हलदी पाउडर
1 छोटी चम्मच अमचूर
नमक और करेलों पर चुपड़ने के लिए अतिरिक्त तेल

भरवाँ करेले कैसे पकाएँ?

सबसे पहले करेलों को अच्छी तरह धो लें और बाहरी सतह यानी छिलका चाकू से छीलकर हटा दें। एक तश्तरी में करेले और नमक लेकर नमक के साथ करेलों को अच्छी तरह मिलाएँ और उन्हें लगभग तीन घंटे के लिए अलग रख दें।

इस बीच आप आलू धोकर उन्हें पानी में उबलने के लिए रख सकते हैं। सबसे बड़े आलू के अंदर चाकू भोंककर देख लीजिए कि वे पककर मुलायम हो गए हैं या नहीं-अगर पक गए होंगे तो चाकू आसानी के साथ भीतर चला जाएगा। जब वे पककर मुलायम हो जाएँ, उनका पानी फेंक दें और तुरंत ठंडे पानी में खंगालें और उन्हें ठंडा होने के लिए अलग रख दें। जब देखें कि वे पर्याप्त ठंडे हो गए हैं और हाथ में लिए जा सकते हैं, सभी आलुओं के छिलके उतार लें। फिर एक गहरे बरतन में लेकर उन्हें हाथ से अच्छी तरह मैश कर लें।

जब तीन घंटे हो जाएँ, एक करेला उठाएँ और उसके बीचोंबीच लंबा खड़ा चीरा लगाकर उसके बीज खुरचकर निकाल लें। सभी करेलों के साथ यही प्रक्रिया अपनाएँ।

अब करेले को भाप में पकाना होगा, जिससे वे थोड़े मुलायम हो जाएँ। इसके लिए हम एक ऐसे बरतन का उपयोग करते हैं, जिसके बीच में एक धातु की छलनी लगी होती है। बरतन में थोड़ा सा पानी लेकर उबालने के लिए रख देते हैं और छलनी पर करेलों को रखकर भाप में पका लेते हैं।

एक कड़ाही में तेल गरम करें और जब वह पर्याप्त गरम हो जाए, स्टोव की आँच धीमी कर दें और गरम तेल में जीरा, गरम मसाला, धनिया, हलदी और अदरक पाउडर (सोंठ) डालकर चलाएँ, जिससे ये मसाले जलें नहीं। धीमी आँच में उन्हें भून लें और जब उनका रंग बदलकर गहरा होने लगे, इन मसालों में मैश किए हुए आलू भी मिला दें। सारे मिश्रण को अच्छी तरह चलाकर थोड़ा सा भून लें। स्वाद के अनुसार नमक मिलाएँ और अंत में अमचूर पाउडर भी भुरका दें। यदि आप कुछ अधिक खट्टा पसंद करते हैं तो अधिक अमचूर भी मिला सकते हैं। इस मिश्रण को अच्छी तरह चलाकर एकसार कर लें और इतना होने पर मिश्रण को स्टोव पर से उतारकर अलग रख दें।

इसके बाद मिश्रण को थोड़ा ठंडा होने दें और फिर बीच से चीरा लगे करेलों को एक-एक करके आलुओं के मसाले से भर लें और उन्हें ओवन की ट्रे पर रख दें। ट्रे को ओवन में रखने से पहले एक ब्रश से थोड़ा सा तेल सभी करेलों पर चुपड़ दें। ओवन को 180 डिग्री तापमान पर रखकर पंद्रह से बीस मिनट तक सिंकने दें।

जब करेलों की सतह भुनकर हल्की सुनहरी हो जाए समझिए आपके करेले तैयार हो चुके हैं!

भोजन के साथ इन भरवाँ करेलों का आनंद लें।

Leave a Comment