बेल शिकंजी – बेल की शिकंजी बनाने की विधि – 18 अप्रैल 2015

शहर:
वृन्दावन
देश:
भारत

आज मैं ग्रीष्म ऋतु में अक्सर तैयार किया जाने वाला एक तरावटदार पेय बनाने की विधि लिखना चाहता हूँ, जो स्वादिष्ट और स्वास्थ्यकर भी है! इसे बेल शिकंजी कहते हैं और उसका मुख्य अवयव बेल फल है, जिसे अंग्रेज़ी में बेंगाल क्विंस कहा जाता है। यह फल साल के इस मौसम में पकता है, अर्थात यह एक मौसमी फल है और आजकल आश्रम में हम रोज़ ही इसके शरबत या शिकंजी का मज़ा ले रहे हैं! विदेशी पाठक इसे किसी भी एशियन दुकान पर प्राप्त कर सकते हैं!

बेल शिकंजी – बेल से तैयार की जाने वाली शिकंजी

एक तरावटदार, प्यास बुझाने वाला पेय घर में तैयार कीजिए, जो न सिर्फ बहुत स्वादिष्ट है बल्कि पाचन-तंत्र के लिए भी बड़ा मुफीद है!

बेल शिकंजी तैयार करने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
इसके अलावा तीन घंटे बेल को भिगोकर रखना पड़ता है।

सामग्री

1 बेल फल
1 नग नींबू
1 लीटर पानी
50 ग्राम शक्कर

बेल शिकंजी कैसे तैयार करें?

बेल फल को अच्छी तरह धो लें। फिर उसे दो दुकड़ों में विभक्त करके पानी से भरे बड़े बरतन में तीन घंटे तक भिगोने के लिए रख दें।

तीन घंटे बाद बेल के टुकड़ों को पानी से बाहर निकालकर शक्कर और नींबू का रस मिलाएँ और चम्मच से अच्छी तरह चलाकर एकसार कर लें। परोसने से पहले उसे ठंडा होने के लिए फ्रिज में रख दें।

है न आसान। चखकर देखिए, स्वादिष्ट भी है! इस तरह बनाने से शरबत या शिकंजी पतली तैयार होगी। इसे बनाने का एक और तरीका है, जिसमें शिकंजी कुछ गाढ़ी होती है-लेकिन उसे बनाने की विधि मैं फिर कभी बताऊँगा।

जब भी कहीं आपको बेल फल दिखाई दे, उसे खरीद लाइए और इस शिकंजी को घर में तैयार करने से मत चूकिए-यह पेट की हर तरह की समस्याओं से राहत दिलाता है!

चीयर्स!