आलू परवल की सब्जी – 3 अगस्त 2013

पाक कला

आज मैं आपको एक ऐसी सब्जी बनाने की विधि बताने जा रहा हूँ जो भारत में मानसून के यानी झमाझम बारिश के मौसम में बहुतायत से पाई जाती है: इसे हिन्दी में परवल कहते हैं और अँग्रेजी में इसे पोइंटेड गार्ड के नाम से जाना जाता है। विदेशों में कुछ लोग इसे ग्रीन पोटैटो भी कहते हैं। यह कुछ-कुछ छोटे आकार की ककड़ी की तरह लगता है लेकिन अक्सर यह नुकीला नहीं होता मगर उस पर धारियाँ अवश्य होती हैं। यूरोप या दूसरे पश्चिमी देशों में किसी भारतीय या एशियाई दुकान पर यह मिल जाएगा। उससे ‘परवल’ कहेंगे तो वह समझ जाएगा!

आलू परवल

एक अत्यंत स्वादिष्ट भारतीय सब्जी जो हमेशा उपलब्ध नहीं होती। सिर्फ बारिश के मौसम में ही मिलती है, इसलिए इस मौसम में उसका ज़्यादा से ज़्यादा मज़ा लेने के लिए इस सीधी-सादी विधि से इसे पकाएँ और मज़ा लें।

आलू परवल पकाने में कितना वक़्त लगता है?

तैयारी करने में:
पकाने में:
कुल समय:

सामग्री

500 ग्राम परवल
500 ग्रामआलू
2 बड़े चम्मच ज़ैतून का तेल अथवा जिस भी तेल में आप भोजन बनाते हैं|
1 ½ छोटी चम्मच ज़ीरा
½ छोटी चम्मच साबुत सरसो
½ छोटी चम्मच गरम मसाला
½ छोटी चम्मच धनिया पाउडर
¼ छोटी चम्मच हल्दी पाउडर
½ छोटी चम्मच हल्दी पाउडर
स्वाद के अनुसार नमक

आलू परवल कैसे बनाएँ?

परवल का छिलका उतारा नहीं जाता इसलिए परवल अच्छे से धो लें। हर परवल के दोनों किनारों को काटकर फेंक दें और उन्हें लंबाई में चार टुकड़ों में काट लें। आलुओं को भी इसी तरह धोकर और छीलकर चौकोर टुकड़ों में काट लें।

एक नॉन-स्टिक कढ़ाई में तेल गर्म करें और जीरा और राई (सरसों) के बीज का तड़का लगाएँ। कुछ देर चलाएं जिससे जीरे का रंग हल्का सुनहरा, भूरा हो जाए और तब कढ़ाई में आलू भी डाल दें और स्वादानुसार नमक मिलाकर अच्छे से चलाएं। फिर ढक्कन रखकर आलुओं को मध्यम आंच में पकने दें। बीच-बीच में सारे मिश्रण को चलाते रहें।

पाँच मिनट के बाद इस मिश्रण में परवल भी मिला दें और अच्छे से चलाकर फिर से ढक्कन लगाकर मिश्रण को थोड़ा और पकने दें। बीच-बीच में उसे चलाते भी रहें।

और दस मिनट बाद ढक्कन खोलकर मिश्रण में गरम मसाला, हल्दी पाउडर और धनिया पाउडर मिलाएँ और इन सारे मसालों के साथ सारे मिश्रण को अच्छे से चलाएं जिससे सारे मसाले आलू और परवल के साथ अच्छे से एकसार हो जाएँ। फिर ढक्कन लगाकर मिश्रण को पाँच मिनट और पकने दें।

आलू जब पककर नर्म हो जाएँ ढक्कन खोलकर सब्जियों को मध्यम आंच में तेज़ी के साथ चलाते हुए हल्का भून लें। फिर उसमें अमचूर पाउडर डालकर चलाएं। अगर आप थोड़ा ज़्यादा खट्टा पसंद करते हैं तो अमचूर पाउडर की मात्र बढ़ा भी सकते हैं। पाँच मिनट इस मिश्रण को चलाने के बाद आपका आलू हल्का सुनहरा दिखाई देने लगेगा और तब समझिए की आपका आलू-परवल तैयार हो गया। कढ़ाई नीचे उतारिए और खाने की तैयारी शुरू कर दीजिए।

सब साथ बैठकर मज़ेदार आलू-परवल का मज़ा लें!

%d bloggers like this:
Skip to toolbar