अजनबियों द्वारा छुआ जाना कौन पसंद करता है? 15 अप्रैल 2014

पालन पोषण

कल मैंने शहर की एक दुकान में घटी घटना का वर्णन किया था, जिसमें एक महिला ने अपरा के गालों पर हाथ फेरा मगर एक अपरिचित की इतनी नजदीकी को अपरा ने बिल्कुल पसंद नहीं किया। जैसा कि कल मैंने कहा, मैं चाहूँगा कि भविष्य में ऐसी परिस्थिति सामने आने पर मेरी बेटी को साफ 'नहीं' कहना चाहिए। आज मैं आपको बताना चाहता हूँ कि रमोना और मैंने इस समस्या के समाधान के लिए किन व्यावहारिक तरीकों पर चर्चा की है।

सबसे पहले यह कि दुकान में बाद में क्या हुआ। जब उस महिला दुकानदार ने अपरा को छूने की कोशिश की तो वह पीछे हट गई। मेरी पत्नी ने अपरा से जर्मन भाषा में कहा कि अगर वह नहीं चाहती कि वह महिला उसे छुए तो उससे साफ़ शब्दों में सिर्फ 'नहीं' कह दे। और स्वाभाविक ही उसने अपरा को ढाढ़स बंधाते हुए अपनी बांहों में भर लिया। क्योंकि अंग्रेजी शब्द 'नो' के लिए हिंदी का शब्द 'नहीं' उसके जर्मन स्थानापन्न से बहुत मिलता-जुलता है, शायद वह महिला रमोना की बातों को समझ गई और अपरा से अलग हट गई।

अपरा के लिए यह काफी था कि वह वहां से चली जाए। उसके बाद वह महिला कितना ही मीठा बोलती रही मगर उसके साथ घुलने-मिलने में अपरा की कोई रूचि नहीं दिखाई दी। वह रमोना की गोद में चढ़कर बैठ गई, अपनी माँ के कन्धों के पीछे चेहरा छिपा लिया और कहा: घर चलो।

स्वाभाविक ही, जब रमोना घर पहुंची, हम लोगों ने आपस में बात की कि इस परिस्थिति में सबसे उचित प्रतिक्रिया क्या हो सकती थी। क्या उसे सीधे उस महिला से कह देना चाहिए था कि हमारे बच्चे को न छुए? पहले क्षण से ही रमोना को पता था कि अपरा को यह अच्छा नहीं लगेगा इसलिए ऐसा करके उस महिला के पहले स्पर्श को ही रोक सकती थी। लेकिन इससे बच्चे को खुद अपनी प्रतिक्रिया देने का मौका नहीं मिल पाता-और इसकी काफी सम्भावना थी कि महिला को रोकने की जल्दबाजी में रमोना नम्र बनी नहीं रह सकती थी। कोई भी अपने बच्चे की सुरक्षा को लेकर बहुत कटु हो सकता है….

स्पष्ट ही, अपरा को प्रतिक्रिया के लिए कुछ पल देने के बाद अपरा से कुछ कहने की जगह रमोना सीधे उस सेल्सवूमन से ही कुछ कह सकती थी। जैसे, मैं कल्पना कर सकता हूँ कि वह यह कह सकती थी: "उसे यह पसंद नहीं है"। लेकिन यह अपनी बच्ची के बिल्कुल सामान्य व्यवहार के लिए हमारी ओर से अफ़सोस ज़ाहिर करने जैसी बात होती।

फिर, सीधे अपरा से हिंदी में यह कहना कैसा होता: "अगर तुम नहीं चाहती कि यह महिला तुम्हें हाथ लगाए तो तुम उससे सीधे कह दो कि वह तुम्हें न छुए।"?

अंत में, मैं जानता हूँ कि इस समस्या पर मेरी सबसे पसंदीदा प्रतिक्रिया क्या होती: सिर्फ अपना हाथ बढ़ाकर उस महिला दुकानदार के चेहरे पर हाथ फेरना, उसी तरह जैसे वह अपरा के चेहरे पर फेर रही थी! मुंह से कुछ कहने की जगह उस महिला की तरह ही उसकी अतीव सुन्दरता पर अचंभित चेहरे के साथ उसके गाल पर हल्की सी चिकोटी और होठों पर मुस्कान। 🙂

इससे काम बन जाएगा। आपका क्या खयाल है?

%d bloggers like this:
Skip to toolbar