सुर्ख रौशनी का धुंधलका, नग्न नर्तकियां और साकी – मेरे लिए बर्दाश्त से बाहर – 5 जनवरी 2014

मेरा जीवन

सन 2006 में मैं आस्ट्रेलिया गया था। वहाँ मैं पहली और आखिरी बार किसी नाइट क्लब गया था: वह वाकया मुझे अच्छी तरह याद है- वह मेरा पहला इस तरह का अनुभव था और मैं नहीं समझता कि भविष्य में कभी मुझे इस तरह के अनुभव से गुजरने की ज़रूरत पड़ेगी। यह आम डिस्को जैसा नहीं था, जहां पोल्स से लिपटी हुई नग्न महिलाएं नृत्य करती हैं-यहाँ तो लगभग पूरी तरह नग्न महिला वेटर्स आगंतुकों को शराब पिला रही थीं।

संभव है आपको इस बात पर विश्वास न हो लेकिन मैं हमेशा से एक खुला और मुक्त व्यक्ति रहा हूँ और विशेष रूप से जब किसी यात्रा पर होता हूँ तब मैं हमेशा नए से नए अनुभवों के लिए अपने आपको तैयार रखता हूँ। तो, जब यह व्यक्ति, जिससे मेरी मुलाक़ात एक साल पहले हुई थी और जो मेरा दोस्त बन गया था, मेरे पास व्यक्तिगत सत्र के लिए आया और शाम को उसके साथ मुझसे घूमने के लिए चलने का निवेदन किया तो मैं तैयार हो गया। फिर वह सोचने लगा कि मुझे कहाँ ले जाए और यूं ही पूछ लिया कि क्या मैं नाइट क्लब चलने के लिए तैयार हूँ।

दरअसल मुझ नाइट क्लब क्या होते हैं, ठीक-ठीक पता ही नहीं था लेकिन उनसे पूरी तरह से नावाकिफ भी नहीं था। पहले एक बार मैं डिस्को जा चुका था और जानता था कि नाइट क्लब जैसी भी कुछ जगहें होती हैं, जहां संगीत और शराब के अतिरिक्त और भी बहुत कुछ पेश किया जाता है, लेकिन मैंने उससे कुछ पूछा नहीं और उसके साथ चल पड़ा। बल्कि मैंने उससे कहा, "मैं कहीं भी जा सकता हूँ" और वाकई ऐसा ही था-अगर उसने मुझसे चर्च या किसी आर्ट गैलरी में चलने के लिए कहा होता तो मैं वहाँ भी जा सकता था। वह मुझे कहीं ले जाना चाहता था और मैंने उसके बारे में ज़्यादा कुछ सोचा नहीं और चलने के लिए तैयार हो गया।

लेकिन नाइट क्लब में प्रवेश करते ही मुझे अचानक लगा कि मैं कहाँ आ गया हूँ! फिर भी मैंने सोचा कि जब आ ही गए हैं तो देखना चाहिए कि ऐसी जगहें कैसी होती हैं। लाल दीवारों और लाल पर्दों के साथ थीम रंग लाल था और कमरे में मद्धिम रोशनी थी। मुख्य हाल में कुछ प्लेटफॉर्म्स थे, जहां कुछ पोल भी दिखाई दे रहे थे और नर्तकियाँ जो नृत्य कर रही थीं उसे देखकर मैं कह सकता हूँ कि उनके पास नृत्य प्रदर्शन के लिए आवश्यक पर्याप्त शक्ति, फुर्ती और अभ्यास था। लेकिन उन महिलाओं का पूरी तरह नग्न होना, उनकी चपलता और नृत्य-क्षमता की तरफ से ध्यान हटा देने के लिए काफी था।

हाल में नग्न युवतियां इधर से उधर घूम रही थीं और मैंने देखा कि नग्न नृत्यांगनाओं पर वाहवाही लुटाते पुरुषों को वस्त्रहीन महिला वेटर शराब पेश कर रही थीं। जब मैं वहाँ का पूरा जायज़ा ले चुका कि हाल में क्या चल रहा है, मेरे मित्र ने कोने में स्थित एक कमरे की तरफ इशारा किया: उस कमरे में कई सोफ़े और कुछ आरामदेह कुर्सियाँ रखी थीं, जिन पर बहुत से पुरुष बैठे हुए शराब पी रहे थे और कुछ पुरुषों की गोद में नंगी औरतें बैठी हुई थीं। कुछ औरतें नृत्य कर रही थीं और कुछ औरतें पुरुषों के साथ बैठकर शराब पी रही थीं।

हम वापस हाल में आ गए और शायद दस मिनट हुए होंगे कि मैंने अपने मित्र से कहा कि अब यहाँ से निकल चलना चाहिए। यह सब मेरे लिए कुछ ज़्यादा था। कुछ मिनटों में ही वहाँ का वातावरण मेरी बर्दाश्त के बाहर होने लगा था। मुझे लगता है कि सेक्स संबंध से मुझे कोई परेशानी नहीं थी, मुझे नग्नता से भी कोई आपत्ति नहीं थी लेकिन वहाँ कुछ ऐसा था जिसके कारण मुझे लग रहा था जैसे वहाँ महिलाओं को वस्तु मानकर खरीदा-बेचा जा रहा हो। क्लब में सभी महिलाएं नग्नावस्था में थीं-लेकिन एक भी पुरुष नग्न नहीं था! मैं कई देशों में समुद्र किनारे के बीचों पर गया हूँ, जहां पुरुष और स्त्रियाँ, सभी नग्नावस्था में धूप-स्नान का आनंद उठाते हैं, और मनुष्य की प्राकृतिक अवस्था में होते हैं। लेकिन उस क्लब में बिल्कुल अलग माहौल था और पता नहीं क्यों, मुझे महसूस हो रहा था कि वहाँ महिलाओं का निरादर हो रहा है। मैंने वहीं, उसी समय सोचा और निर्णय किया कि इस अनुभव का यह मेरा पहला मौका है और भविष्य में कभी ऐसी जगह पर नहीं जाऊंगा।

कोई कह सकता है कि मुझमें पहले भी कई बार, कई तरह के परिवर्तन हुए हैं और भविष्य में क्या होगा, कुछ नहीं कहा जा सकता लेकिन मैं यह कहना चाहता हूँ कि नहीं, मुझमें कई तरह के परिवर्तन हो सकते हैं मगर इस विषय में कभी नहीं! 🙂

%d bloggers like this:
Skip to toolbar