Category: मन

अपने दिमाग के दरवाजे दूसरों के लिए खुले छोड़ देने के खतरे - 18 मार्च 2015
अपने दिमाग के दरवाजे दूसरों के लिए खुले छोड़ देने के खतरे – 18 मार्च 2015
स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि जब आप अपने विचारों को ऐसे लोगों के सामने ... Read More
यथार्थ से कोसों दूर अपने निजी यथार्थ का निर्माण - 17 मार्च 2015
यथार्थ से कोसों दूर अपने निजी यथार्थ का निर्माण – 17 मार्च 2015
स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि वास्तविक संसार के नैसर्गिक नियमों की अनदेखी करते हुए ... Read More
आप अपना एक निजी विश्व रचते हैं - प्लासिएबो इफैक्ट और खुशी के लिए! 16 मार्च 2015
आप अपना एक निजी विश्व रचते हैं – प्लासिएबो इफैक्ट और खुशी के लिए! 16 मार्च 2015
स्वामी बालेंदु इस संभावना के बारे में लिख रहे हैं कि आप अपनी चिंतन-प्रक्रिया, कल्पनाओं ... Read More
पुरानी परम्पराओं और धार्मिक रूढ़ियों की जकड़न से अपने मस्तिष्क को आज़ाद कीजिए! 9 अक्टूबर 2014
पुरानी परम्पराओं और धार्मिक रूढ़ियों की जकड़न से अपने मस्तिष्क को आज़ाद कीजिए! 9 अक्टूबर 2014
स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि क्यों धार्मिक विश्वासों, परंपरागत व्यवहारों और सांस्कृतिक मूल्यों को ... Read More
केवल घर की सफाई ही ज़रूरी नहीं बल्कि दिमाग के कूड़े-करकट को भी निकाल फेंकना ज़रूरी है! 8 अक्टूबर 2014
केवल घर की सफाई ही ज़रूरी नहीं बल्कि दिमाग के कूड़े-करकट को भी निकाल फेंकना ज़रूरी है! 8 अक्टूबर 2014
स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि कैसे लोग अपने दिमाग में कचरा इकट्ठा करते चले ... Read More
सपनों में संदेश ढूँढ़ने की कोशिश मत कीजिए - 05 जून 2013
सपनों में संदेश ढूँढ़ने की कोशिश मत कीजिए – 05 जून 2013
स्वामी बालेंदु बता रहे हैं कि क्यों आज देखे जाने वाले सपनों में भविष्य के ... Read More
स्वप्न: जानकारियों का अलौकिक स्रोत या आपके अवचेतन में हो रही हलचलों का बिम्ब-04 जून 2013
स्वप्न: जानकारियों का अलौकिक स्रोत या आपके अवचेतन में हो रही हलचलों का बिम्ब-04 जून 2013
स्वामी बालेंदु स्वप्न के विषय में लोगों की विभिन्न मान्यताओं, जैसे कि स्वप्न कहाँ से ... Read More