होली मुबारक – 17 मार्च 2014

उत्सव

होली मुबारक!

आज पागल हो जाने का दिन है! आज होली के त्योहार का मुख्य दिन है और यहाँ हर कोई होली के उन्माद में डूब जाना चाहता है। यह भारत के दो मुख्य वार्षिक उत्सवों में से एक है। इस दिन बड़े-छोटे सभी और विशेषकर बच्चे वृन्दावन आना चाहते हैं, जहां आज सप्ताह भर की शरारतपूर्ण हंसी-ठिठौलियों, रंगों और उन्मत्त मौज-मस्ती का समापन होगा!

दुनिया में कई त्योहार ऐसे हैं, जिनकी तुलना होली के साथ की जा सकती है। दूसरे देशों में आयोजित होने वाले कार्निवालों की तरह होली भी मूलतः वसंत के आगमन की खुशी में और उसके स्वागत में मनाई जाती है। यहाँ यह फसल-कटाई का समारोह भी है। भारत में हर चीज़ को किसी न किसी तरह धर्म से जोड़ दिया जाता है लेकिन यह त्योहार मनाने की प्रथा धर्म के अस्तित्व से पहले से रही है और इसका संबंध धर्म से ज़्यादा प्रकृति से है।

होली का त्योहार आपके सामने इस बात की संभावना पेश करता है कि बहुत सी वे बातें, जिन्हें आप सामान्य रूप से नहीं करते, इस दौरान कर सकते हैं। आपको आजादी है कि आप आज के दिन सामाजिक व्यवहार के दैनिक नियमों का उल्लंघन कर सकते हैं। आप गंदगी या कीचड़ में लिथड़ सकते है, रंगों में सराबोर हो सकते हैं, पूरी तरह गीले हो सकते हैं, खुले आम नाच-गा सकते हैं, दूसरों पर रंग बरसा सकते हैं, उन पर पानी उंडेल सकते हैं और पूरी तरह पागलपन ओढ़ सकते हैं।

उनके लिए, जो इस त्योहार का मज़ा लेने यहाँ आते हैं, यह अनुभव उन्मुक्त करने वाला होता है। जैसे आप एक बार फिर, एक दिन के लिए ही सही, बच्चे बन गए हों, हर तरह की परेशानियों, चिंताओं से मुक्त कि लोग क्या कहेंगे, क्या करना वाजिब है और किन चीजों से आपके कपड़े या घर गंदा हो जाएगा!

जी हाँ, होली में आपका घर गंदा होता ही है। यह सामान्य बात है और इस पर कोई एतराज़ नहीं करता कि हर तरफ रंग क्यों फैला हुआ है। यह ऐसी बात है, जिसकी बाकी साल भर कल्पना भी नहीं की जा सकती। जिन देशों को मैं जानता हूँ, वहाँ भी इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

हमने हमेशा की तरह अपने स्कूल के बच्चों को होली मनाने के लिए आश्रम में निमंत्रित किया है। अभी-अभी हम रंग खेलकर आए हैं-गुलाल, रंगीन पानी, फूल, मौज-मस्ती, धमाचौकड़ी! एक बार फिर यह सब बेहद शानदार रहा और इस उल्लासपूर्ण समारोह के चित्र आप यहाँ देख सकते हैं।

मैं आप सभी लोगों को होली की शुभकामनाएँ प्रेषित करता हूँ! होली है!!!

Leave a Comment