नन्ही अपरा का दूसरा जन्मदिन – अब जन्मदिन की दो पार्टियां होंगी – 9 जनवरी 2014

अपरा

आज वह दिन आ ही गया! हमारी नन्ही बेटी अपरा का आज दूसरा जन्मदिन है! आज वह पूरे दो साल की हो गई। अब वह दूध पीती बच्ची नहीं रह गई है! जब हम पिछले दो सालों पर नज़र दौड़ाते हैं तो आश्चर्यचकित रह जाते हैं। बल्कि हमें लगता है उससे भी पहले, रमोना के गर्भवती होने के बाद से अब तक, थोड़े से समय में ही कितना कुछ एक साथ हमारे जीवन में घटित हुआ है! हम आज उसका दूसरा जन्मदिन बड़े पैमाने पर और बड़ी धूमधाम के साथ मनाने वाले थे मगर सब कुछ गड़बड़ा गया। लेकिन फिर भी यहाँ के लचीलेपन के कारण हमें विश्वास है कि पार्टी होगी और धूमधाम के साथ जन्मदिन मनाया जाएगा।

हमने स्कूली बच्चों और देश भर के दूसरे मेहमानों को आज यानी 9 जनवरी 2014 के लिए आमंत्रित किया था। रसोइयों, सजावट करने वालों और उन सभी लोगों के साथ, जिनकी एक बच्चे के जन्मदिन पर आवश्यकता होती है, आज के समारोह के सभी कार्यक्रम तय कर लिए गए थे। लेकिन 6 जनवरी के दिन यानी तीन दिन पहले टीवी पर मौसम के समाचारों में हमने देखा कि 9 जनवरी को बारिश हो सकती है। फिर समाचार पत्रों में भी इस बात की पुष्टि की गई: गुरुवार को बारिश की संभावना! पार्टी बाहर खुले प्रांगण में आयोजित की गई थी-अब क्या हो? हम सब परेशान थे।

परिवार के सदस्यों के बीच चर्चा में यह निर्णय हुआ कि पार्टी गुरुवार के स्थान पर शनिवार के दिन रख ली जाए। जी हाँ, नियत दिन से तीन दिन बाद समारोह आयोजित करना मेरी जर्मन पत्नी के लिए बड़े आश्चर्य की बात थी क्योंकि सब कुछ पहले से 9 तारीख के लिए बुक्ड था। लेकिन हमारे लिए यह कर पाना एकदम आसान था: एक फोन रसोइये को किया, एक सजावट करने वाले को, एक टेबल-कुर्सियों का इंतज़ाम करने वाले टेंट हाउस को, और बस! अपने मेहमानों को परिवर्तित कार्यक्रम की सूचना देने में कुछ घंटे और खर्च हुए। दुर्भाग्य इतना ही था कि बाहर से आने वाले मेहमान, जिन्होंने ट्रेन का रिज़र्वेशन करवा रखा था, नहीं आ पाएंगे, लेकिन, क्योंकि अब पार्टी सप्ताहांत में है इसलिए कई दूसरे मेहमान, जो आज नहीं आ सकते थे, आने में समर्थ हो सकेंगे।

हम अपने निर्णय पर खुश हैं: कल शाम से हम देख रहे हैं कि आसमान में बादल छाए हुए हैं और ठंड भी बहुत बढ़ गई है और आज सूरज भी नज़र नहीं आ रहा है। यहाँ बारिश अभी शुरू नहीं हुई है हालांकि आगरा और दिल्ली में बारिश होने की खबर है! हवा में हम ठंडक और नमी का अनुभव कर रहे हैं और लगता है शाम तक यहाँ भी बारिश शुरू हो जाएगी। मौसम विभाग पर कितना विश्वास किया जाए? आज कुछ भी हो या शनिवार को कुछ भी हो, हमने तय किया है कि अब सारा आयोजन 11 तारीख को होगा और हमें विश्वास है कि हम शानदार पार्टी करेंगे!

क्योंकि आज अपरा का जन्मदिन है इसलिए आज तो हम इसे मनाएंगे ही! केक काटा जाएगा और उसके लिए उपहार भी लाए जाएंगे और मुख्य बात यह है कि हम सब अपरा की आज की दैनिक गतिविधियों को देख-देखकर खुश होंगे। सबेरे उठने के साथ ही उसका उत्साह देखते ही बनता है। वह केक के बारे में बात कर रही है, कल्पना में केक काटने की रिहर्सल कर रही है और खेल-खेल में अपने लिए 'हॅप्पी बर्थड़े' कहते हुए सबको खिला भी रही है। उसे ईमेल और फोन पर बधाई संदेश भी आने शुरू हो गए हैं, हालांकि उत्तर में वह भी उन सभी को 'हॅप्पी बर्थडे' ही कह देती है!

उसकी खुशी और उतावलापन देखते ही बनता है और मैं जानता हूँ कि सिर्फ बच्चे ही इतनी उत्कटता के साथ इस आनंद का अनुभव कर सकते हैं!

मेरी नन्ही बच्ची, तुम हमारे जीवन में सूरज की तरह चमक रही हो! जन्मदिन मुबारक हो मेरी अपरू!

%d bloggers like this:
Skip to toolbar